12 Jun, 2024
पूर्व मेयर पर हमलावर हुआ झामुमो युवा मोर्चा
admin Admin

मेदिनीनगर:– पूर्व मेयर द्वारा झारखंड सरकार के पीएचडी मंत्री के ऊपर बयान देने के बाद झामुमो युवा मोर्चा के अध्यक्ष सन्नी शुक्ला, वरिष्ठ नेता अभिषेक सिंह और सचिव आशुतोष विनायक ने पूर्व मेयर पर कड़ा हमला किया है। झामुमो युवा मोर्चा के नेताओं ने कहा है कि निगम के पूर्व सत्ताधारियों को सोच समझ कर बोलना चाहिए, आज मेदनीनगर में जो जल संकट की स्थिति बनी है इसके लिए पूर्व मेयर जिम्मेदार हैं, फिर भी अगर इनके द्वारा अनाप शनाप बयान आ रहे हैं। जल्द ही निगम के पूर्व सत्ताधारियों के खिलाफ झामुमो युवा मोर्चा आंदोलन करेगा और उनके सच्चाई जनता के बीच बताएगा। वरिष्ठ नेता अभिषेक सिंह ने कहा भाजपा की पूर्व मेयर और स्वघोषित नगर माता को बताना चाहिए कि उन्होंने मेदनीनगर के पेयजल समस्या को दूर करने के लिए क्या - क्या किया है? अगर भाजपा के जनप्रतिनिधियों ने कुछ भी किया होता तो आज पलामू में घन घोर जलसंकट नहीं होता। भाजपा ने तो मंडल डैम का उद्घाटन कर दिया है, ये दावा करते हैं की हर घर में नल से जल मिल रहा है। जब पूर्व मेयर सत्ता में थीं तो उन्होंने निगम के पेयजल की समस्या दूर करने के लिए कुछ नहीं किया है। निगम के सारा पैसा का सिर्फ बंदरबांट हुआ है, जिसका खामियाजा मेदनीनगर की जनता को भुगतना पड़ रहा है। आज शहर की महिलाओं को टैंकर के पीछे दौड़ने को मजबूर करने के अलावा स्वघोषित नगर माता ने कुछ नहीं किया है। विकास और सुंदरता के नाम पर सड़कों पर मौत का डिवाइडर बनाया है इन्होंने, जिसके वजह है कई परिवारों ने अपनों को खोया है। और रही बात झारखंड सरकार पीएचडी के मंत्री की बात तो उन्होंने सभी डैम और तालाबों को नदियों को जोड़ने के लिए योजना का तोहफा पलामू वासियों को दिया है। और मैडम जिस योजना का बात कर रही हैं वो नगर विकास मंत्रालय का है, सिर्फ माहौल बनाने के लिए मंत्री जी का नाम स्वयंभू नगर माता जी ले रही है। झामुमो युवा मोर्चा के अध्यक्ष सन्नी शुक्ला ने कहा "जनता भूल थोड़े गई है की अभी पांच साल सत्ता में आपने रहते हुए पेयजल के लिए क्या क्या किया है। झारखंड में डबल इंजन की सरकार थी, मेयर भी भाजपा का ही था, तब पेयजल संकट दूर करने के लिए क्या किया इन लोगों ने। केंद्र की सरकार के पेयजल मंत्री ने पेयजल संकट को दूर करने के लिए क्या किया है! भाजपा के विधायक सांसद और खुद के खिलाफ आंदोलन करना चाहिए पूर्व मेयर को। पलामू में मेयर, डिप्टी मेयर, विधायक सांसद होने के बाद भी यहां का विकास देख लें और आज गढ़वा के विकास को देख लें समझ आ जाएगा की विकास कैसे किया जाता है। परसेंटेज का खेल कितना हुआ है पूरा शहर जानता है, परसेंटेज ले कर निजी खर्च बताने वाले लोग खुद के गिरेबान में झांके।"



  • VIA
  • Admin




ads

FOLLOW US