पलामू : कभी जलावन के लिए जंगलों की खाक छानने वाली महिलाएं आज गैस पर बना रही खाना

पलामू

पलामू : पलामू में भी प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का लाभ मिलने से ग्रामीण इलाके की महिलाओं में खुशी की लहर है. दरअसल पलामू की भी महिलाएं पहले जलावन की लकड़ियों के लिए जंगलों की खाक छानती थी, मगर आज घर में गैस चूल्हा मिल जाने से वह समय पर खाना बना रही हैं और धुएं से निजात मिल गया है. 

आज पलामू के शहरी और ग्रामीण इलाके में भी महिलाएं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री रघुवर दास की पहल से रसोई घर में गैस चूल्हे पर खाना बनाते हुए दिखाई दे रही हैं. दरअसल पिछले कई दशकों से महिलाएं जलावन के लिए जंगलों की खाक छानती थी और धुएं के बीच खाना बनाने को मजबूर थी, मगर आज प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन मिलने से महिलाएं अब समय पर गैस चूल्हा पर खाना बनाती हुई दिखाई दे रही है. इस बात से महिलाओं में खासा उत्साह है. उनका कहना है कि पहले लकड़ियों के लिए दर-दर ठोकरें खानी पड़ती थी. मगर आज गैस चूल्हा मिलने से काफी फायदा हुआ है.

इधर जिला प्रशासन उज्ज्वला योजना का लाभ देने के लिए पूरी तरह से तत्परता दिखा रहे हैं. जिले के उपायुक्त  के निर्देश पर जिले के विभिन्न प्रखंडों में साप्ताहिक जनता दरबार लगाकर महिलाओं के बीच उज्जवला योजना का लाभ दिया जा रहा है. महिलाओं के बीच गैस चूल्हा व सिलेंडर का वितरण किया जा रहा है. पांकी प्रखंड में सैकड़ों महिलाओं के बीच गैस चूल्हा का वितरण किया जा रहा है. सदर एसडीओ नंद कुमार गुप्ता व पांकी प्रखंड विकास पदाधिकारी ललित अहोदार द्वारा गैस का वितरण किया जा रहा है. इससे महिलाओं में काफी खुशी है. महिलाएं सरकार के इस पहल की सराहना कर रही है.

जिले के 21 प्रखंड में ग्रामीण इलाके में लगभग निर्धारित लक्ष्य से 50% के करीब महिलाओं को उज्जवला योजना का लाभ मिल चुका है. सरकार और प्रशासन की इस पहल से ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं में उत्‍साह है. सरकार के प्रति उनका नजरिया भी बदला है. महिलाएं सरकार के इस पहल की सराहना कर रही है. महिलाओं का कहना है कि सबसे ज्यादा दिक्‍कत बरसात के दिनों में होती थी. बरसात के पहले ही जलावन की व्‍यवस्‍था करनी पड़ती थी. जलावन न रहने की स्थिति में बरसात के दिनों में कई बार खाना नहीं बन पाता था. मगर गैस कनेक्‍शन मिलने से राहत है.

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *