जहां शांति होगी वहां होगा विकास : रघुवर

‎बड़ी ख़बर लातेहार

गारू : नक्सलियों की मांद समझा जाने वाला बारीबांध गांव के ग्रामीणों से मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सीधा संवाद किया। ग्रामीणों से सीधा संवाद करने के दौरान मुख्यमंत्री ने सबसे पहले उनकी समस्या को जाना एवं समस्या समाधान को लेकर जिले के उपायुक्त को समस्या समाधान करने का निर्देश दिया। ग्रामीणों से सीधा संवाद स्थापित करने के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि जहां शांति होगी वहां ही विकास होगा इसी सोच को लेकर सरकार काम कर रही हैं। जिसका प्रतिफल है कि राज्य के सबसे नक्सल क्षेत्र की जनता से सीधा संवाद स्थापित हो पा रहा है। उन्होंने कहा कि जिस घुटन एवं दर्द की जिदंगी को आपने वर्षाें जिया उसे अब जीने की जरूरत नहीं है। अब सरकार आपके साथ मिलकर गांव का विकास करेगी। गांव के वैसे सभी लोग को जो विकास में बाधक बन रहे है उन्हें खत्म करने का काम कर रही है। सीएम ने कहा कि नक्सल मुक्त झारखंड बनाने को लेकर सरकार कटिबद्ध है लेकिन इसमें सभी ग्रामीणों के भी सहयोग की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि आजादी के 70 साल बाद सरकार ने ऐसे गांवों में सड़क ,बिजली, पानी ,स्वास्थ्य समेत अन्य सुविधाएं पहुंचाने का कार्य किया है जो ग्रामीणों के लिए सपना था। उन्होंने कहा कि अब जो राज्य में विकास का रथ चल रहा है वह नहीं रूकेगा। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों को बताया कि पहले ग्रामीणों को छोटी-छोटी योजना के लिए सरकारी कार्यालय के चक्कर लगाने पड़ते थे लेकिन राज्य सरकार की सोच थी कि अपना गांव एवं अपना विकास हो इसी को लेकर सरकार ने आदिवासी विकास समिति का गठन कर पांच लाख तक की योजनाएं गांव में भी चयनित कर गांव की विकास की जिम्मेदारी सौंप दी गई। मुख्यमंत्री दास ने कहा कि राज्य, जिला एवं गांव के विकास में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका महिलाओं की होती है जहां की महिलाएं जागरूक हो जाती है वहां का विकास कोई नहीं रोक सकता। उन्होंने बताया कि महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए राज्य सरकार की ओर से सखी मंडल का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि अब विद्यालय में पोशाक की सप्लाई सखी मंडल की महिलाएं ही करेंगी। इस दौरान उन्होंने महिलाओं एवं ग्रामीणों को सशक्तिकरण के लिए चलाई जा रही योजनाओं के संबंध में विस्तार से बताया। मौके पर डीआरडीए निदेशक संजय भगत,एसडीओ जय प्रकाश झा, सुधीर दास,जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी शिवनंदन बड़ाईक,बीडीओ महेन्द्र रविदास समेत जिले के अधिकारी मौजूद थे।

80 लाख बच्चों की पोशाक की सिलाई करेंगी सखी मंडल की दीदी 

बारीबांध में ग्रामीणों से सीधा संवाद करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं के सशक्तिकरण को लेकर राज्य सरकार द्वारा अहम फैसले लिए गए है। जिसमें राज्य के विद्यालय में पढ़ने वाले 80 लाख बच्चों के पोशाक के सिलाई का कार्य सखी मंडल की दीदी को दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि खादी ग्राम उद्योग से भी महिलाओं के सशक्तिकरण को लेकर योजनाएं संचालित कर स्वरोजगार देने को लेकर कार्य किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि राज्य में आदिम जनजाति बहुल्य क्षेत्र में सरकार शुद्ध पानी देगी इसके लिए सरकार द्वारा आदिम जनजाति क्षेत्रों में पाइप लाइन बिछा कर पानी पहुंचाने की व्यवस्था कर रही है।

गांव को विकास के पथ पर ले जाने की मांग 

अतिनक्सल क्षेत्र बारीबांध के ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री से रूद पंचायत की मुखिया सुनीता देवी, सुषमा बृजिया, राजेश बृजिया, विश्वनाथ ¨सह एवं बसंती कुजूर ने मुख्यमंत्री से संवाद स्थापित कर गांव के विकास में आने वाली समस्या से अवगत कराया। बारीबांध गांव की सुषमा बृजिया ने मुख्यमंत्री को बताया कि गांव के विकास में सबसे बड़ा बाधक नेटवर्क नहीं रहना है। सुषमा ने बताया कि नेटवर्क नहीं रहने से हमलोग बाहरी दुनिया से दूर हो जाते है। वही गांव में आने वाली सड़क की स्थिति भी ठीक नहीं है। जिससे आवागमन में काफी परेशानी होती है। जिस पर मुख्यमंत्री ने उपायुक्त राजीव कुमार को गांव को नेटवर्क से जोड़ने एवं सड़क निर्माण कार्य कराने का निर्देश दिया। विश्वनाथ ¨सह ने गांव में स्वरोजगार के लिए काम देने की मांग की। उन्होंने मुख्यमंत्री रघुवर दास से गांव में कूटिर उद्योग खोलने की बात कही। वहीं मुखिया सुनीता कुजूर ने कहा कि वर्तमान में केन्द्र एवं राज्य सरकार के द्वारा दिए जाने योजनाओं को गांव के ग्रामीणों तक पहुंचाने का कार्य कर रही हूं। जिस पर मुख्यमंत्री दास ने मुखिया को गांव में जागरूकता लाने की बात कही।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *