आधी रात घर में घुस कर विधवा से भसुर ने किया दुष्कर्म

पांकी : दुष्कर्म, ये शब्द जितना शर्मनाक है उतना ही डरावना. जब एक विधवा महिला को अस्पताल में बेहोशी की हालत में लाया गया तो सबकी नजरें शर्म से झूक गई, जब मालूम चला कि पिड़िता विधवा के भसूर ने ही पहले ही साथ दिखने पर मनाही करने एवं अर्थदंड लगाने के बावजूद जबरन मुंह काला करने से बाज नहीं आया.

आधी रात घर में घुस कर विधवा से भसुर ने किया दुष्कर्म

पांकी : दुष्कर्म, ये शब्द जितना शर्मनाक है उतना ही डरावना. जब एक विधवा महिला को अस्पताल में बेहोशी की हालत में लाया गया तो सबकी नजरें शर्म से झूक गई, जब मालूम चला कि पिड़िता विधवा के भसूर ने ही पहले ही साथ दिखने पर मनाही करने एवं अर्थदंड लगाने के बावजूद जबरन मुंह काला करने से बाज नहीं आया.

हालांकि अब तक थाने में अब तक प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई है, लेकिन सवाल है कि आखिरकार रिश्तों को अहमियत देने के बजाय तार-तार करने वाले मौकापरस्तों पर कड़ी कारवाई समाजिक और कानूनी कब तलक होगी? ताकि ये अपने कुकर्मों से परहेज करें. दरअसल ये मामला है पलामू के सगालिम का जहाँ आठ साल पहले पति के देहांत के उपरांत सब्जी बेचकर अपने दो बच्चों को पाल-पोष रही विधवा को मध्यरात्रि में जबरन घर में घूस कर मारपीट भी की, दुष्कर्म भी किया और पैसे भी छीन फरार हो गया. जिसे पिड़िता की पुत्री ने भी देखा. बाद में शोरगुल होने पर गंभीर हालत में पीड़िता को पांकी स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया गया, जिसके बाद उसे पलामू मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल रेफर कर दिया गया.

हालांकि पहले भी उनके अवैध संबंध पर पंचायत भी बैठी थी और जुर्माना ठोंका गया था. बावजूद इसमे सुधार नहीं हुआ. महिला अपने इज्ज्त जाने का हवाला देकर शादी करना चाहती थी, मगर आरोपी मुकेश शर्मा शादी से इनकार करता रहा. थाना प्रभारी जे के रमन ने जानकारी होने की बात भी कही. लेकिन लिखित आवेदन नहीं मिलने की भी जानकारी दी. हालांकि जांच कर न्यायोचित कारवाई का भरोसा भी दिया, पर इस घटना दुष्कर्म का एक और नया चेहरा दिखा दिया. जिसकी प्रताड़ित एक विधवा है, चाहे समाज हो या कानून अस्पताल के बेड पर पड़ी महिला न्याय के आश में हर किसी को निहार रही है, और अपना दुखड़ा सुना रही है.