गढ़वा : समय से नहीं हुआ इलाज, गर्भवती की मौत

गढ़वा ब्रेकिंग न्यूज़

गढ़वा : सदर अस्पताल के प्रसव कक्ष में इलाज के अभाव में महिला मरीज वसंती देवी 22 वर्ष की मौत हो गई। वह पलामू जिले के विश्रामपुर थाना क्षेत्र के बनखेता गांव निवासी भरदुल मलार की पत्नी थी। उसे चिनियां थाना क्षेत्र के चिरका गांव से उसकी मां जीरमानी देवी बुधवार को सदर अस्पताल लेकर पहुंची थी। वह गर्भवती थी। चिकित्सक ने उसे इलाज के लिए प्रसव वार्ड में भर्ती कर लिया था। रात आठ बजे उसे ड्यूटी में मौजूद चिकित्सक डॉ माया कुमारी देखकर गई थी। इसके कुछ ही देर बाद वसंती देवी की स्थिति बिगड़ने लगी। उसकी मां ने वार्ड के नर्सों से स्थिति बताई तो वे लोग चिकित्सक के आने का इंतजार करने को कहा। वे लोग चिकित्सक के आने का इंतजार करते रहे कितु ड्यूटी में तैनात चिकित्सक डॉ माया कुमारी गायब रहीं। रात करीब पौने तीन बजे दर्द से तड़पती वसंती देवी ने दम तोड़ दिया। कितु गुरुवार की सुबह साढ़े छह बजे सदर अस्पताल पहुंची डॉ माया कुमारी ने उसका परीक्षण कर मृत घोषित किया।

लीपापोती में जुटा अस्पताल प्रबंधन :

वसंती देवी की मौत के बाद अस्पताल प्रबंधन लीपापोती में जुट गया। उसके पुर्जे पर रेफर लिख दिया गया। जबकि परिजनों को सिर्फ रक्त की कमी होने की बात बताई गई थी। इस संबंध में सदर अस्पताल की उपाधीक्षक डॉ रागिनी अग्रवाल का कहना था कि बसंती देवी के साथ उसकी मां के अलावा कोई और परिजन नहीं आया था। उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए उसे रेफर कर दिया गया था। कितु महिला को वे लोग अस्पताल में ही रखे रहे। – सुबह में भी चिकित्सक के इंतजार में तड़पती रही महिला मरीज :

गुरुवार की सुबह करीब सात बजे पलामू जिले के हैदरनगर थाना क्षेत्र के सलेमपुर गांव के रामदयाल राम की पत्नी पुष्पा देवी को प्रसव पीड़ा की स्थिति में सदर अस्पताल लाया गया था। कितु उसे देखने के लिए महिला चिकित्सक मौजूद नहीं थी। वहां तैनात नर्स ओपीडी शुरु होने तक इंतजार करने की नसीहत देती रहीं। पुष्पा देवी प्रसव कक्ष के बाहर सीढ़ी के पास दर्द के कारण फर्श पर तड़पती रही। उसके साथ आए उसके पिता मझिआंव थाना क्षेत्र के अधौरा निवासी धर्मजीत राम व उसकी मां परेशान रहे। किसी चिकित्साकर्मी ने उसकी सुधि नहीं ली। बाद में ओपीडी शुरु होने के बाद उसका इलाज शुरु हुआ। इस संबंध में डीएस डॉ रागिनी अग्रवाल के अनुसार चिकित्सक के अभाव में रात में ऑन कॉल ड्यूटी की व्यवस्था की गई है। फिर भी किसी नर्स ने उक्त महिला की स्थिति पर चिकित्सक को कॉल क्यों नहीं किया, इस पर डीएस ने चुप्पी साध ली।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *