छात्रों ने डीसी ऑफिस का किया घेराव, कहा- नहीं खाली करेंगे हॉस्टल

पलामू

पलामू : जिले में एससी, एसटी, अल्पसंख्यक, पिछड़ावर्ग कल्याण छात्रावास को खाली करने के आदेश से नाराज छात्रों में शनिवार को डीसी कार्यालय का घेराव और प्रदर्शन किया. इस दौरान छात्रों ने प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की और करीब ढाई घंटे तक समाहरणालय गेट को जाम रखा.

छात्र हॉस्टल को खाली करने संबंधी आदेश को वापस लेने की मांग कर रहे थे. इस दौरान सदर एसडीएम नंदकिशोर गुप्ता और जिला कल्याण पदाधिकारी सुभाष कुमार के साथ हुई वार्ता के बाद छात्र शांत हुए. छात्रों के प्रदर्शन और घेराव के बाद जिला प्रशासन ने होस्टल खाली करने संबंधी आदेश को तत्काल प्रभाव से खत्म कर दिया.

मामले में पर्व त्योहार बाद एक जांच कमिटी के गठन करने का निर्णय लिया गया. जिसमें छात्र, अधिकारी और हॉस्टल के अधीक्षक होंगे. डीसी कार्यालय में प्रदर्शन से पहले सैकड़ों की संख्या में छात्र रेडमा अनुसूचित जाति छात्रावास से कचहरी पंहुचे थे. छात्रों का कहना था कि वे किसी भी कीमत पर छात्रावास को खाली नहीं करेंगे. प्रशासन का यह तनाशाही है.

छात्रों ने कहा कि एक तो छात्रावास में कोई सुविधा नहीं है, ऊपर से खाली करने का आदेश है. छात्रों ने प्रशासन से हॉस्टल में सुविधा बहाल करने को कहा. छात्रों का कहना था कि प्रशासन का आरोप है कि छात्रावास में अवैध छात्र रह रहे हैं, मामले में प्रशासन जांच करवा लें, लेकिन सभी को क्यों खाली करने को बोला जा रहा है.

गौरतलब है कि पलामू में 18 एससी, एसटी, पिछड़ावर्ग, अल्पसंख्यक कल्याण छात्रावास है. सभी छात्रावास का संचालन कल्याण विभाग कर रहा है. मामले में जिला प्रशासन ने शुक्रवार तक सभी छात्रावास को खाली करने का नोटिस जारी किया गया था. छात्रों ने इस आदेश को तानाशाही बताते हुए आंदोलन शुरू किया था. छात्रों का नेतृत्व छात्र नेता दिव्या भगत ने किया. प्रदर्शन के दौरान छात्रों के साथ पूर्व सांसद कामेश्वर बैठा, मजदूर नेता राजीव सिंह, बसपा नेता शत्रुघ्न कुमार शत्रु, एक्टिवेस्ट बिनोद कुमार, युगल पाल समेत कई लोग थे.

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *