दस वर्षों तक कुंभकरण की नींद सोए, अब अखबारी नेता बने हुए हैं पूर्व विधायक - झामुमो

गढ़वा : झारखंड मुक्ति मोर्चा के जिला प्रवक्ता धीरज दुबे ने पूर्व विधायक सत्येंद्र नाथ तिवारी पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि विगत दस वर्षों से कुंभकरण की नींद सोने वाले पूर्व विधायक आज अखबारी नेता बन हुए हैं।

दस वर्षों तक कुंभकरण की नींद सोए, अब अखबारी नेता बने हुए हैं पूर्व विधायक - झामुमो
जिला प्रवक्ता JMM - धीरज दुबे।






गढ़वा : झारखंड मुक्ति मोर्चा के जिला प्रवक्ता धीरज दुबे ने पूर्व विधायक सत्येंद्र नाथ तिवारी पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि विगत दस वर्षों से कुंभकरण की नींद सोने वाले पूर्व विधायक आज अखबारी नेता बन हुए हैं। जो अपने कार्यकाल में कभी क्षेत्र में दिखते नहीं थे आज प्रत्येक दिन लफ्फाजी करने में मशगूल हैं। जनता इनके बहरूपिया अंदाज से वाकिफ है इसीलिए चुनाव में सबक सिखाने का काम किया था। श्री दुबे ने कहा कि चुनाव हारने के बाद भी पूर्व विधायक अपनी आदतों से बाज नहीं आ रहे हैं। वह आम जनता को बेवकूफ समझते हैं इसीलिए साम-दाम-दंड-भेद से लोगों में भ्रम पैदा करने की असफल कोशिश में लगे हुए हैं। मगर जनता ने उन्हें भरपूर मौकादिया था परंतु तब वह काम करने की बजाय गहरी निद्रा में सोए हुए थे। पूर्व विधायक गढ़वा-रंका विधानसभा क्षेत्र को अपना जागीर समझ लिए थे इसीलिए जनता ने उन्हें कुर्सी से उतारने का काम किया है। वर्तमान में विधायकी जाने की बात को पचा नहीं पा रहे हैं इसलिए अनर्गल बयानबाजी करके खबर में बने रहना चाहते हैं। परंतु तकनीकी के दौर में पूर्व विधायक को मालूम होना चाहिए कि जनता इतनी जागरूक हो चुकी है कि वह हर पल की खबर रखती है तथा उन्हें मालूम है कि मंत्री मिथिलेश ठाकुर एवं वर्तमान सरकार जनता के लिए क्या कर रही है। मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने विधायक कोटा से 2430 गरीब परिवारों के खाते में सीधा एक-एक हजार रुपए डालने का काम किया है। क्षेत्र में मास्क, गमछा एवं सैनिटाइजर वितरण किया गया। चलंत वाहन के माध्यम से लोगों के घर तक भोजन पहुंचाया जा रहा है। निजी कोष से बाहर फंसे मजदूरों को राशि भेज कर मदद किया। उनके प्रयास से मजदूरों को घर वापस लाया जा रहा है, पंचायत स्तर पर मुख्यमंत्री दीदी किचन एवं दाल-भात केंद्र के माध्यम से भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। थाना और पुलिस पिकेट पर भी भोजनालय की व्यवस्था की गई है। राशन डीलर के माध्यम से सभी कार्ड धारियों और गरीब परिवारों को राशन उपलब्ध कराया जा रहा है। घर पहुंच रहे मजदूर मुख्यमंत्री के फोटो को देखकर नतमस्तक होते दिख रहे हैं। इतनी सक्रियता देखकर पूर्व विधायक घबराहट में आ गए हैं और वह जानबूझकर ओछी राजनीति का परिचय दे रहे हैं। चुनाव के दौरान भी इन्होंने कईं अफवाह फैलाने की असफल कोशिश किया पर जनता ने उन्हें सिरे से नकार दिया और वर्तमान दौर में भी इनके नकारात्मक राजनीति को जनता नकार रही है।