फिर शर्मसार हुआ पलामू, 6 साल की मासूम को भी नही बक्शा दरिंदे ने

हुसैनाबाद : एक ओर सात साल बाद दुष्कर्म की घटना की सबसे बड़े मुकदमे निर्भया कांड में सजा का ऐलान हुआ तो दूसरी ओर पलामू की धरती एक छः साल के बच्ची के दर्द से बौखला उठा. 

फिर शर्मसार हुआ पलामू, 6 साल की मासूम को भी नही बक्शा दरिंदे ने






हुसैनाबाद : एक ओर सात साल बाद दुष्कर्म की घटना की सबसे बड़े मुकदमे निर्भया कांड में सजा का ऐलान हुआ तो दूसरी ओर पलामू की धरती एक छः साल के बच्ची के दर्द से बौखला उठा.  हुसैनाबाद थाना क्षेत्र के लंगरकोट  गांव में छः वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म के प्रयास का मामला प्रकाश में आया है. पीड़ित बच्ची की स्थिति गंभीर बनी हुई है. अनुमंडलीय अस्पताल हुसैनाबाद में प्राथमिक उपचार के बाद उसे बेहतर इलाज के लिए मेदिनीनगर पलामू मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल भेजा गया है. जहाँ सिविल सर्जन डॉ जॉन एफ कैनेडी के देखरेख में चिकित्सकों की टीम इलाज में जुटी है.

 

उसे रात में ही बल्ड मुहैया कराया गया. इस मामले को लेकर पीड़िता के परिजनों ने हुसैनाबाद थाना में  वंशीबिघा गांव के बच्चन यादव के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी है. आरोप है कि बच्ची बुधवार की शाम अपने घर के बाहर खेल रही थी इसी दौरान उसे टॉफी खिलाने के बहाने आरोपी साइकिल पर बैठाकर पहाड  की तरफ ले गया और उसके साथ दुष्कर्म का प्रयास किया और हालत बिगड़ता देख घायल अवस्था मे बच्ची को छोड़ फरार हो गया. गंभीर रूप से घायल बच्ची को परिजनों ने तत्काल अनुमंडलीय अस्पताल हुसैनाबाद लाया जहाँ चिकित्सकों ने गंभीर स्थिति को देखते हुए उसे मेदनीनगर मेडिकल कॉलेज अस्पताल के लिए रेफर कर दिया. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर पूछताछ शुरू कर दी है. थाना प्रभारी राजदेव प्रसाद के अनुसार बच्ची के परिजन ताड़ी बेचने का काम करते हैं. आशंका व्यक्त की जा रही है कि ताड़ी पीने के बाद युवक बच्ची को बहला कर ले गया होगा। घटना बुधवार की शाम की बतायी जाती है. चिकित्सकों के अनुसार अधिक रक्तस्राव होने के कारण बच्ची की स्थिति गंभीर बनी हुयी है. जिसे सिविल सर्जन पलामू ने रातों रात रक्त के अलावे समुचित इलाज की व्यवस्था की है. लेकिन घटना के बाद लोगों का आक्रोश आरोपी के खिलाफ बढ़ता जा रहा है.

सड़क जाम कर आक्रोशित लोगों ने  जल्द से जल्द कड़ी सजा दिलाने की मांग शुरू कर दी है।