मेदिनीनगर : मेडिकल कॉलेज में शीघ्र होगी पढ़ाई शुरू

पलामू ब्रेकिंग न्यूज़

मेदिनीनगर : पलामू जिला मुख्यालय मेदिनीनगर मेडिकल कालेज में शीघ्र ही पढ़ाई शुरू होगी। इंगित की गई कमियों को दूर किया जा रहा है। नीति आयोग ने झारखंड को पुन: स्वास्थ्य के क्षेत्र में प्रथम स्थान दिया है। उक्त बातें सूबे के स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने कही। वे शनिवार की शाम स्थानीय सदर अस्पताल परिसर स्थित ब्लड बैंक जीर्णोद्धार के बाद भवन उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे। कहा कि रक्तदान महादान है। हर व्यक्ति को रक्तदान के प्रति जागृत करना जरूरी है। उन्होंने चिकित्सकों का आह्वान किया कि जरूरत के तहत ही रक्तदाता से रक्त लिया जाए। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में झारखंड को समृद्ध बनाने के लिए पूरी टीम लेकर जुलाई माह में अमेरिका जा रहे हैं। लौटने के बाद इसका लाभ झारखंडवासियों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि वे एक बार आंध्र प्रदेश गए। वहां 108 एंबुलेंस की सेवा देखी। इसे झारखंड में प्रभावी बनाया। कहा कि  एम्स में ट्रोमा सेंटर देखकर लौटे तो रिम्स में इसे स्थापित किया। शीघ्र ही इसका उदघाटन किया जाएगा। इसमें 125 लोगों का इलाज होगा। पलामू के ब्लड बैंक को राज्य का तीसरा समृद्ध ब्लड बैंक माना जाता है। इसे अव्वल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पलामू में 500 बेड वाले अस्पताल का उदघाटन शीघ्र किया जाएगा। कहा कि पलामू समेत पूरे सूबे का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को बेहतर ढंग से संचालित कराया जाएगा। इसकी व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि पूरे राज्य में 700 शव वाहन उपलब्ध कराए जाएंगे। मोबाइल मेडिकल वैन दो दिनों के अंदर पलामू को उपलब्ध करा दिया जाएगा। यह गांव में जाकर रक्त संग्रह करेगा। कहा कि राज्य के 16 जिला में ब्लड बैंक संचालित है। आठ जिला में राशि उपलब्ध करा दी गई है। पलामू में फार्मेसी कालेज व ट्रोमा सेंटर के लिए राशि उपलब्ध करा दी गई है। पलामू जिला में सीटी स्कैन मशीन समेत अन्य आधुनिक यंत्रों से सुसज्जि्त किया गया है। यह और मेडिकल कालेज भाजपा सरकार, प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री की देन है। हास्पीटल निर्माण का टेंडर हो गया है। कहा कि पूरे राज्य में 108 एंबुलेंसों की संख्या 329 हो गई हैं। 57 लाख में 32 लाख लोगों को गोल्डन कार्ड वितरित किया जा चुका है। शेष परिवारों को गोल्डन कार्ड दिया जा रहा है। पलामू के सांसद विष्णु दयाल राम ने कहा कि जीर्णोद्धार के बाद ब्लड बैंक में अब रक्त की कमी नहीं होगी। रक्तदान मानवता की सबसे बड़ी सेवा है। भारत में सबसे पहले 1942 में कलकत्ता के सरजमीं पर रेडक्रास सोसाइटी ने ब्लड बैंक की स्थापना की थी। कहा कि शिविर लगाकर ब्लड बैंक को सु²ढ़ किया जाए। ट्रोमा सेंटर की स्थापना हो। ब्लड बैंक में रेयर ब्लड ग्रुप जैसे ओ निगेटिव, बी निगेटिव की उपलब्ध कराई जाए। मरीजों को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराई जाए। डालटनगंज विधायक आलोक चौरसिया ने कहा कि ब्लड सबकी जरूरत है। सामूहिक रूप से रक्तदान करने की जरूरत है। डीडीसी बिदु माधव प्रसाद सिंह ने कहा कि जीर्णोद्धार के बाद यह ब्लड बैंक जीवनदायी स्थल बन जाएगा। उन्होंने युवा वर्ग से आहवान किया कि रक्तदान कर समाज में भूमिका निभाएं। उन्होंने कहा कि रक्तदान से रक्तदाताओं को कई बीमारियों से मुक्ति मिलती है। पलामू के सिविल सर्जन डा. जानएफ केनेडी ने ब्लड बैंक की विशेषता पर विस्तार से प्रकाश डाला। कहा कि यहां से पलामू प्रमंडल समेत बिहार, छत्तीसगढ़ व उत्तर प्रदेश के लोगों को भी रक्त दिए जाते हैं। इसे बेहतर बनाने की जरूरत है। ब्लड बैंक के स्टेट मोटिवेटर इंद्रजीत सिंह डिपल ने भी रक्तदान के महत्व पर प्रकाश डाला। कहा कि राज्य का यह तीसरा समृद्ध ब्लड बैंक है। समारोह का संचालन डीपीएम प्रवीण सिंह ने किया। मौके पर डा. आरके रंजन, डा. राजेश कुमार, डा. एके श्रीवास्तव, डा. डीके सिंह, रेणुका पांडेय, इम्तेयाज अहमद नज्मी, इदरीश हवारी, रामचंद्र यादव समेत काफी संख्या में लोग मौजूृद थे।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *