पलामू में पत्रकार का संदिग्ध अवस्था में मौत, हत्या के शक पर जिले में उबाल

पलामू

पलामू अभी अभी बड़ी खबर आई है, जिससे पलामू में सनसनी मच गई है। खबर जान आप भी अचंभित होंगे, खबर है स्वास्थय मंत्री के कर्मभूमि विश्रामपुर मुख्यालय से ही, जहाँ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में ही एक पत्रकार का शव झूलता हुआ पाया गया है। पलामू से प्रकाशित राष्ट्रीय नवीन मेल का विश्रामपुर रिपोर्टर रामेश्वर केसरी को कपड़े से बने फंदे से झूलता हुआ पाया गया है। पहली नजर में ही लोग उसे हत्या ही मान रहे हैं, हालांकि रिपोर्टर के तौर पर सीधे हत्या का शक नहीं जा रहा है, क्योंकि जानकारी के मुताबिक पत्रकार रामेश्वर केसरी विश्रामपुर स्वास्थय केंद्र में सहियाओं को प्रशिक्षण देने वाले बीटीटी का काम भी किया करते थे, जिसके बाद तरह-तरह की चर्चा का बाजार गर्म है, वहीं विपक्षीयों के निशाने पर स्वास्थय मंत्री भी आ गए हैं। जहां घटनास्थल से चुड़ी, एक उंगली की अंगुठी वगैरह सबूत भी पुलिस को हाथ लगे हैं।

वहीं पुलिस कप्तान इंद्रजीत महथा के निर्देश पर घटनास्थल की विडियोग्राफी के साथ पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल टीम गठित कर जांच शुरु कर दी गई है, तत्काल डॉग-स्कॉवयड की टीम भी विश्रामपुर पहुंच छानबीन तेज कर दी है। घटना के बाद वरिष्ठ पत्रकार ओमप्रकाश अमरेंद्र, नागेंद्र शर्मा, सतेंद्र मिश्रा, नीलकमल शुक्ला समेत पत्रकार संगठनों ने प्रशासन से उच्चस्तरीय जांच की मांग की है। साथ ही सूचना जनसंपर्क विभाग के कार्यालय में शोक सभा भी आयोजित की गई है।
वहीं पत्रकार रामेश्वर केसरी के मौत के बाद राजनीतिक गलियारों में भी उबाल आ गया है। झारखंड नवनिर्माण मोर्चा ने प्रेस रिलीज जारी कर विश्रामपुर अस्पताल से होने वाली गड़बड़ी का हवाला देकर बड़ी न्यूज हाथ लगने पर हत्या का संदेह जाहिर किया है। वहीं स्थानीय विधायक सह सुबे के स्वास्थय मंत्री का इलाका बता जल्द दोषीयों को पकड़ने की मांग करते हुए आंदोलन की भी धमकी दी है।

वहीं नौजवान संघर्ष मोर्चा के कद्दावर नेता छोटन उपाध्याय ने भी घटना पर चिंता जाहिर करते हुए पत्रकार की मौत को हत्या बताते हुए निष्पक्ष जांच की मांग की है, साथ ही जल्द खुलासा नहीं होने पर सरकार और प्रशासन के खिलाफ बड़े स्तर पर मोर्चा खोलने की चेतावनी दी है।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *