झारखंड बिहार का कुख्यात नक्सली कालिका यादव गिरफ्तार, 10 लाख रुपये का है इनाम

पलामू

पलामू : झारखण्ड-बिहार सीमावर्ती क्षेत्र में सक्रिय माओवादी जोनल कमांडर कालिका उर्फ पुन यादव को बिहार के गया जिले से गिरफ्तार किया गया है. कालिका बिहार के गया के इलाके में छुपा हुआ था, इसी क्रम में बिहार एसटीएफ ने उसे गिरफ्तार कर लिया.

गिरफ्तार कालिका से पलामू पुलिस की स्पेशल टीम ने गया जाकर पूछताछ की है. कालिका यादव बिहार के गया के डुमरिया थाना क्षेत्र के हरदी गांव का रहने वाला है. कालिका पर झारखण्ड सरकार ने 10 लाख रुपये का इनाम घोषित किया है. कालिका माओवादियों के मध्यजोन का जोनल कमांडर है. उसका कार्यक्षेत्र पलामू के हरिहरगंज, छतरपुर, नौडीहा बाजार, पिपरा, हुसैनाबाद, हैदरनगर और बिहार के औरंगाबाद गया के इलाके में है.

कालिका झारखण्ड-बिहार में तीन दर्जन से अधिक बड़े नक्सल हमले का आरोपी है. इन हमलों में डेढ़ दर्जन से अधिक जवान शहीद हुए हैं, जबकि कई लोग मारे गए हैं. पलामू पुलिस कालिका की सम्पति आकलन कर रही है, मामले में पलामू पुलिस ने बिहार से उसकी सम्पति का ब्यौरा भी मांगा है. कालिका पर झारखंड बिहार में 37 बड़े नक्सल हमले का आरोप है. जिसमें 25 झारखंड के पलामू में हैं.

कालिका की झारखंड-बिहार सीमावर्ती क्षेत्र में बड़ी पकड़ है. कालिका ने पलामू पुलिस के स्पेशल टीम के समक्ष कई बड़े खुलासे किए हैं. उसने बताया है कि पलामू के आंतरिक भाग में कोई भी माओवादी दस्ता सक्रिय नहीं है.

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *