अगर आप कोल्डड्रिंक पीते हैं तो ये खबर आप जरूर देखें

पलामू

अगर आप इस उमस भरी गर्मी में राहत के लिए शीतल पेय यानी कोल्ड्रिंक पीते हैं तो आपके लिए के खबर बेहद जरूरी है, इस खबर को देखने के बाद आपकी आंखें फ़टी रह जायेंगी। आप जब भी कोल्डड्रिंक पीते हैं, तो आपको ये पता नही होता कि इस कोल्ड्रिंक को तैयार कैसे किया गया है, पैकिंग में कितनी सतर्कता बरती गई है, कम्पनी के मैनुफैक्चरिंग से पैकिंग प्रोसेस के बीच क्या मानक तय है, इन सारी बातों से आप बिलकुल अनजान रहते हैं और आप बस ब्रैंड देखकर कोल्ड्रिंक खरीदते हैं। आज हम आपको एक ऐसी कोल्ड्रिंक की बन्द बोतल  दिखा रहे हैं, जिसमे सील बॉटल के अंदर हल्दी राम का 1 रुपये वाला पाउच है। अब सवाल है कि इतना बड़ा मिस्टेक कैसे हो सकता है, यदि थोड़ा भी सावधानी बरता जाय तो वो पाउच दिख ही जायेगा।

ये बोतल कम्पनी से होलसेलर्स, डिस्ट्रीब्यूटर, रिटेलर सबके पास से होते हुए पलामू के लेस्लीगंज पहुँच गया। लेस्लीगंज में सीएससी संचालक अनुराग कुमार सिन्हा, सीएससी के साथ फन कैफ़े & मोबाइल दुकान चलाते हैं, जहां उन्होंने अब कोल्ड्रिंक रखना भी शुरू किया है। उन्होंने इस बोतल में हल्दीराम पाउच को देख हमें सूचित किया और फिर हमारी टीम के सदस्य वेदव्यास भारती लेस्लीगंज के उस दुकान पहुँचे। उस बोतल को देख हम खुद भी अचम्भित रह गये, की आखिर इतनी बड़ी चूक कैसे हो सकती है। खैर हमने इस मसले पर सम्बन्धित कम्पनी के अधिकारियों से बात करने की कोशिश की पर वो कुछ भी कहने से इनकार कर दिए। कहते भी क्या? खैर हमारा काम है आपको पलामू की हर छोटी बड़ी खबरों के साथ आपको जागरूक करना और हम धन्यवाद देते हैं, दुकान संचालक अनुराग सिन्हा को जिनके वजह से आप तक ये खबर पहुँच पायी और सभी पलामूवासी से अपील भी करते हैं, कि यदि आपके आसपास ऐसी कोई भी घटना या ऐसा कुछ दिखे जिसे लोगों को बताकर उन्हें सतर्क या कहें जागरूक किया जा सके तो हमें जरुर बताएं।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

3 thoughts on “अगर आप कोल्डड्रिंक पीते हैं तो ये खबर आप जरूर देखें

  1. I’m not sure why but this site is loading incredibly slow for me.
    Is anyone else having this issue or is it a issue on my end?
    I’ll check back later on and see if the problem still exists.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *