झारखंड में आंधी-तूफान के साथ जोरदार बारिश; इन जिलों में रहें अलर्ट

झारखण्ड ब्रेकिंग न्यूज़

रांची : बंगाल की खाड़ी में उठा भीषण चक्रवाती तूफान फानी से शुक्रवार दोपहर बाद राजधानी रांची और आसपास के इलाके में तेज हवा के साथ बारिश हो सकती है। इसको देखते हुए प्रशासन ने तीन और चार मई को सारे स्कूल बंद करने का आदेश जारी किया है। जमशेदपुर, सरायकेला, सिमडेगा, गुमला और दुमका में भी स्कूल बंद कर दिया गया है। तूफान का जमशेदपुर में व्यापक असर पड़ने के मद्देनजर एनडीआरएफ मुस्‍तैद है। सेना को भी अलर्ट पर रखा गया है। अस्थायी राहत शिविर बनाये गये हैं। नदी किनारे रहने वालों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है।

इस तूफान का असर रांची समेत झारखंड के कई जिलों में पड़ेगा। इसे लेकर अलर्ट जारी किया गया है। कई जगहों पर तेज बारिश और आंधी आ सकती है। वज्रपात का भी खतरा है। मौसम का मिजाज भांपकर रांची, खूंटी, जमशेदपुर और सिमडेगा में शुक्रवार व शनिवार को स्कूलों को बंद रखने का आदेश जारी हुआ है। रांची और खूंटी में सोमवार को भी चुनाव के कारण स्कूल बंद हैं।

चक्रवाती तूफान फानी का असर शुक्रवार दोपहर बाद से पूरे झारखंड में दिखेगा। इस दौरान 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल सकती हैं। कई शहरों में मध्यम दर्जे की बारिश हो सकती है। ऐसी स्थिति अगले 24 घंटे तक बने रहने की चेतावनी दी गई है। फानी का व्यापक असर खासकर जमशेदपुर, सरायकेला खरसावां, संताल परगना के जिले, सिमडेगा और गुमला में दिखेगा।

सरायकेला-खरसावां में रात से ही लगातार बूंदाबांदी हो रही है। प्रशासनिक पदाधिकारियों और डॉक्‍टरों की छुट्टी रद्द कर दी गई है। उन्हें क्षेत्रों में चौकस रहने का निर्देश दिया गया है। सभी स्कूलों को 3 दिनों तक बंद रखने को कहा गया है। पाकुड़, हजारीबाग और कोडरमा में भी दो दिनों के लिए स्कूल बंद कर दिया गया है। दुमका में सुबह से लगातार बूंदाबांदी हो रही है। चाईबासा में तेज हवाओं के साथ हल्की बारिश हो रही है। लातेहार में भी सुबह से तेज हवाएं चल रही हैं। सिमडेगा में भी स्कूलों को 3 और 4 मई के लिए बंद कर दिया गया है।

पिछले 43 सालों में अप्रैल माह में भारत के पड़ोसी समुद्री क्षेत्र में उठा इतनी तीव्रता का यह पहला तूफान है। पीएम नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को हालात से निपटने के लिए विभिन्न विभागों द्वारा की गई तैयारियों की समीक्षा की। ओडिशा व आंध्र की ओर जाने वाली ट्रेनें व हवाई उड़ान भी रद हैं। 

जरूरी हो तभी घरों से बाहर निकलें

रांची में मौसम विभाग के निदेशक एसडी कोटाल ने आम लोगों से सावधानी बरतने की अपील करते हुए कहा है कि जरूरी काम से ही घर से बाहर निकलें। शुक्रवार को खासकर पश्चिमी सिंहभूम, पूर्वी सिंहभूम, सिमडेगा व सरायकेला-खरसांवा में भारी बारिश (65-115 मिमी) व आंधी की रफ्तार 50 किलोमीटर प्रति घंटा तक होगी।

जबकि शनिवार को धनबाद, बोकारो, पाकुड़, दुमका समेत पश्चिम बंगाल के सीमावर्ती इलाकों से जुड़े जिलों में तेज आंधी के साथ भारी बारिश होगी। इस दौरान आसमान में बादल गरजेंगे। शनिवार को रांची व आसपास के क्षेत्रों में आंशिक बादल के साथ गरज या बारिश हो सकती है। सोमवार को मौसम साफ रहेगा। 

जमशेदपुर पहुंची एनडीआरएफ की टीम, सेना को भी किया गया अलर्ट 

चक्रवाती तूफान फानी के मद्देनजर उपायुक्त अमित कुमार ने लोगों से अपील की है कि रोजमर्रा की जरूरतों के सामान की व्यवस्था कर लें। जिला प्रशासन ने स्वर्णरेखा और खरकई नदी के तटीय क्षेत्रों में रहने वालों को अलर्ट किया है। उन्हें सुरक्षित स्थानों पर चले जाने को कहा गया है। जिला प्रशासन ने ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में अस्थाई शिविर बनाए हैं। तूफान के कारण आने वाली किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए एनडीआरएफ की एक टीम जमशेदपुर पहुंच चुकी है।

ओडिशा में 12 लाख से ज्यादा लोग होंगे प्रभावित

ओडिशा के 15 जिलों में 10 हजार से ज्यादा गांवों और 52 कस्बों पर तूफान कहर बरपा सकता है। इससे 12 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित होंगे। इसलिए उन्हें सुरक्षित स्थानों पर भेजा जा रहा है। तीनों सेनाओं व अन्य एजेंसियों को पहले ही अलर्ट किया जा चुका है। वायु सेना ने गुवाहाटी, कोलकाता और अंडल के सिविल हवाईअड्डे से लड़ाकू विमान के संचालन का अभ्यास किया है, ताकि आपात स्थिति में राहत और बचाव कार्य यहां से शुरू किया जा सके। 

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *