संथाल के साथ पलामू प्रमंडल पर भी ध्यान दे सरकार : सत्येंद्र नाथ तिवारी

गढ़वा : रंका विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक श्री सत्येंद्र नाथ तिवारी ने गढ़वा और पलामू जैसे पिछड़े जिला के प्रवासियों को विशेष सुविधा मुहैया कराने की मांग की है ताकि प्रवासी सुरक्षित अपने घर तक पहुंच सकें।

संथाल के साथ पलामू प्रमंडल पर भी ध्यान दे सरकार : सत्येंद्र नाथ तिवारी

गढ़वा : रंका विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक श्री सत्येंद्र नाथ तिवारी ने गढ़वा और पलामू जैसे पिछड़े जिला के प्रवासियों को विशेष सुविधा मुहैया कराने की मांग की है ताकि प्रवासी सुरक्षित अपने घर तक पहुंच सकें।

उन्होंने कहा कि शुक्रवार को लेह-लद्दाख में फंसे संथाल परगना के 60 प्रवासियों को जहाज से रांची लाया गया, जो अच्छी पहल है। लेकिन पलामू प्रमंडल जैसे पिछड़े क्षेत्र के हजारों प्रवासी आज भी दूसरे प्रदेशों में ठोकर खा रहे हैं। राज्य सरकार उनके प्रति भी  हमदर्दी दिखाए।

श्री तिवारी ने कहा कि झारखंड सरकार सिर्फ दूसरे के किए गए कार्यों का श्रेय लेने में जुटी है। केंद्र सरकार के द्वारा लगातार झारखंड को मदद मुहैया कराई जा रही है। चाहे आर्थिक सहयोग हो, खाद्यान्न की आपूर्ति हो, कोरोना जांच किट और सुरक्षा किट हो, तमाम तरीके की सुविधाएं झारखंड को दी जा रही है। लेकिन राज्य सरकार केंद्र सरकार को धन्यवाद देने के बजाय लगातार निराधार बातें करते दोषारोपण का कार्य कर रही है और अपनी जिम्मेदारियों से भाग रही है।

पूर्व विधायक ने देश के कोने कोने में फंसे गढ़वा और पलामू जिला के सभी प्रवासियों के लिए वाहन की मांग करते हुए कहा है कि राज्य सरकार ऐसे लोगों को जल्द से जल्द चिन्हित करके उन्हें जहाज से ना सही, उनके फंसे हुए स्थान और संख्या का सही आकलन करते हुए जो भी वाहन उपयुक्त हो यथा- बस, स्कार्पियो, बोलेरो, कार इत्यादि मुहैया कराकर संथाल के मजदूरों की तरह इन पर भी कृपा करे ताकि सभी प्रवासी मजदूर अपने घर सकुशल वापस आ सकें।