कांडी : मूर्ति चोरी की घटना से ग्रामीणों में रोष

गढ़वा ब्रेकिंग न्यूज़

कांडी: थाना अंतर्गत खरौंधा गांव स्थित विजय राघव मंदिर से श्री राम, सीता व लक्ष्मण की मूर्तियां चोरी की सूचना पर सोमवार की दोपहर एसडीपीओ ओमप्रकाश तिवारी इसकी जानकारी लेने गांव पहुंचे। मंदिर के पुजारी भुवनेश्वर दुबे ने उन्हें बताया कि सुबह साढ़े तीन बजे पूजा के लिए मंदिर आए तो गेट का ताला टूटा हुआ पाया तथा गर्भगृह से मूर्तियों को गायब पाया। पुजारी के अनुसार चोरी गई सभी तीनों मूर्तियां अष्टधातु की थीं। पुजारी ने बताया कि भगवान का वस्त्र व माला बाहर गिरा हुआ पाया गया। इन्होंने कहा कि टेंपू में माइक बंधवाकर लोगों को मूर्ति चोरी की जानकारी दी व सहयोग की अपील की। इधर लोगों ने अपने स्तर से कोयल नदी में मूर्तियों की खोज की। हाई स्कूल के पीछे व होटल के पश्चिम मंदिर के उत्तर एक जगह दीवार ढही हुई पाई गयी है। इसी सुराख के पास मूर्ति की एक माला गिरी हुई थी। जबकि थोड़ा आगे वस्त्र पड़ा हुआ था। लोगों ने कहा कि संभवत: इसी खाली जगह से मूर्तियां निकाली गईं हों। पुजारी ने बताया कि सैकड़ों वर्ष पूर्व राजा गुरु प्रताप शाहीदेव व उदय प्रताप शाहीदेव के पूर्वजों द्वारा इस भव्य मंदिर के निर्माण के बाद उक्त बेशकीमती अष्टधातु से बनी श्री रामलला, सीता व लक्ष्मण की मूर्तियां प्रतिष्ठापित की गई थीं। मंदिर से मूर्तियां गायब होने की सूचना पाकर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई। मूर्ति चोरी की इस घटना से ग्रामीणों में काफी आक्रोश है। इस घटना से आक्रोशित व्यथित लोग मंदिर के सामने धरना पर बैठ गए हैं। लोगों ने कहा कि जबतक भगवान नहीं मिलते वे धरना पर बैठे रहेंगे। लोगों ने मुर्तियों की सकुशल बरामदगी व दोषियों को पकड़कर कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मांग कर रहे थे। खरौंधा पंचायत की मुखिया आशा ठाकुर के प्रतिनिधि? मुन्ना ठाकुर, पूर्व उप प्रमुख रामदास राम, पंसस लालू मेहता, सूर्यदेव राम, संतोष दुबे, उत्तम पासवान, अशोक दुबे, अजय पासवान, विनोद राम, गोविद चौहान, हेमंत कुमार, राघव पति पासवान, संजय ठाकुर आदि ने कहा कि जब भगवान ही सुरक्षित? नहीं हैं तो और क्या बच गया।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *