गढ़वा : गंगा नहाने के बाद भी लोगों ने कहा पापी हो, तो महिला ने मौत को गले लगाना समझा आसान

गढ़वा

गढ़वा : गढ़वा जिले के मेराल प्रखंड में दुष्कर्म पीड़िता ने मंगलवार को जहर खाकर खुदकुशी करने की कोशिश की। पीड़िता को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी जान बच गई। पीड़िता ने बुधवार को आपबीती सुनाई। उसने बताया कि करीब डेढ़ महीने पहले गांव के ही एक युवक ने उसके साथ दुष्कर्म किया था। पुलिस से शिकायत की तो आरोपी को पकड़कर जेल भेज दिया, लेकिन पंचायत मदद के बजाय उसे परेशान कर रही है। मेराल इलाका रांंची से 228 किमी दूर है।

       महिला को 5 लाख रु. जुर्माना भरने को भी कहा

  1. पीड़िता ने बताया, "करीब 15 दिन पहले पंचायत ने फरमान सुनाया कि पहले गंगा स्नान करो। फिर पूजा-पाठ कराकर पूरे गांव को भोजन कराओ। पंचायत ने पांच लाख रुपए का जुर्माना भरने का भी आदेश दिया।" परिवार ने बताया कि पंचायत के इस आदेश से तंग आकर उसने जहर खा लिया। तत्काल उसे अस्पताल ले गए, जहां उसकी जान बच गई।

    पंचायत ने कहा- महिला के अवैध संबंध थे

  2. उधर, पंचायत का कहना है कि महिला का पति बाहर काम करता है। महिला का गांव के युवक अफजल अंसारी से अवैध संबंध थे। इसके बाद दोनों को समझाया गया। फिर दिसंबर में महिला ने अफजल के खिलाफ दुष्कर्म का केस कर दिया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पंचों ने यह बात मानी है कि उन्होंने महिला से गंगा स्नान करने और भोज कराने को कहा है, लेकिन पांच लाख जुर्माने की बात नकार दी।

    पति बोला- परिवार का मामला

  3. पीड़िता के पति ने कहा, "यह मेरे परिवार का आंतरिक मामला है। इसे ज्यादा तूल देने से गांव का माहौल खराब होगा। इसलिए मैं इस मामले को आगे बढ़ाना नहीं चाहता।" मेराल थाना के अफसर गुप्तेश्वर शर्मा ने कहा कि दुष्कर्म मामले में तो आरोपी जेल जा चुका है। जुर्माने वाले मामले की जानकारी नहीं है। शिकायत होगी तो कार्रवाई करेंगे।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

3 thoughts on “गढ़वा : गंगा नहाने के बाद भी लोगों ने कहा पापी हो, तो महिला ने मौत को गले लगाना समझा आसान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *