पलामू में खुला यूफोरिया स्कूल, नामांकन प्रारम्भ

चैनपुर : पलामू उपराजधानी बने या ना बने लेकिन शिक्षा के क्षेत्र में राजधानी यानि कि एजुकेशन हब बनने को तैयार है. जिला मुख्यालय के करीब एक से बढ़कर एक विद्यालय खुल रहे हैं मगर अब 21 वीं सदी का एक विद्यालय यूफोरीया का भी शुभारंभ हो गया है.

पलामू में खुला यूफोरिया स्कूल, नामांकन प्रारम्भ






चैनपुर : पलामू उपराजधानी बने या ना बने लेकिन शिक्षा के क्षेत्र में राजधानी यानि कि एजुकेशन हब बनने को तैयार है. जिला मुख्यालय के करीब एक से बढ़कर एक विद्यालय खुल रहे हैं मगर अब 21 वीं सदी का एक विद्यालय यूफोरीया का भी शुभारंभ हो गया है. चैनपुर के चेड़ाबार में भुवनेश्वर दूबे मेमोरियल स्कूल की स्थापना होने के साथ नामांकन भी प्रारंभ हो गया. जहां अभिभावकों के सपने साकार होंगे, तब जब संस्कार युक्त शिक्षा मिलेगी. जहां व्यवस्थाएं एवं साधन तो बड़े स्कूलों वाले होंगे, मगर शुल्क कम बजट का होगा, क्योंकि यूफोरिया प्रबंधन शिक्षादान की महत्ता को जानता है. 

तभी तो सुरक्षित, संयमित, अनुशासन, प्रशासन से संपन्न विद्यालय में हर सेवा उच्चतम क्वालिटी की मिलेंगी. ये कहना गलत नहीं होगा जब मुंबई से प्रशिक्षित शिक्षक यहां के शहरी एवं दूर दराज से आए बच्चों को प्रारंभिक ज्ञान देंगे. उन्हें समाज, परिवार में जीने एवं दुनियादारी के लायक बनाने की मजबूत आधारशिला रखेंगे. हालांकि नामांकन सुविधा में कई तरह की छूट एवं साधन उपलब्ध होने से रूझान है, वहीं सुरक्षित बस सेवा के आवागमन से लेकर कला, खेल, सांस्कृतिक रूप से बढ़ाने के लिए हर तरह एक्टिविटी पर विशेष फोकस रखा जाना सबको आकर्षित कर रहा है.