चिकित्सक विहीन रेहला स्वास्थ्य केंद्र, इलाज कोे ले भटकते हैं ग्रामीण

पलामू
  • स्थानीय लोगों ने पलामू उपायुक्त सहित चिकित्सा पदाधिकारी से की शिकायत
  • कहा एक 15 दिनों के अंदर चिकित्सक नहीं बैठेंगे तो स्थानीय लोग करेंगे आत्मदाह

मेदिनीनगर : विश्रामपुर नगर परिषद स्थित वार्ड 7 में एक साल पूर्व उदघाटन किये गये नवनिर्मित स्वास्थ्य केंद्र केवल दिखावा मात्र बनकर रह गया है यहां कोई चिकित्सक नहीं रहने के कारण लोगों को छोटी से छोटी बिमारी का भी इलाज व स्वास्थ्य लाभ नहीं मिल पा रहा जिसका परिणाम उन्हें इलाज को भटकना पड़ता है। लेकिन इसकी तनिक भी चिंता स्थानीय विधायक सह सुबे स्वास्थ्य मंत्री रहे रामचंद्र चंद्रवंशी को नहीं है। वे केवल अपने परिसर में मेडिकल कॉलेज और स्वास्थ्य केंद्र स्थापित करने में मशगूल हैं। इन्हें क्षेत्र की जनता से कोई लेना देना नहीं। इस बाबत स्थानीय 98 लोगों का हस्ताक्षर युक्त आवेदन पलामू सिविल सर्जन सहित पलामू उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक, स्वास्थ्य मंत्री, अनुमंडल पदाधिकारी, नगर परिषद अध्यक्ष, रेहला थाना प्रभारी व विश्रामपुर प्रखंड विकास पदाधिकारी को देकर अविलंब खुलवाने की मांग की है। आवेदन में लिखा है कि चार करोड़ की लागत से बने भवन केवल दिखावा मात्र बनकर रह गया है जबकि नवनिर्मित भवन में कर्मचारी के रहने के लिए आवास भी बनकर तैयार हैं। फिर भी किसी चिकित्सक या स्वास्थ्य कर्मी का नहीं होना क्षेत्र के प्रति स्वास्थ्य मंत्री की निष्क्रियता को दर्शाता है। पलामू उपायुक्त सहित सिविल सर्जन को दिए आवेदन में लिखा है कि अगर 15 दिनों के अंदर चिकित्सक सह स्वास्थ्य कर्मियों की पदस्थापना नहीं हुई तो प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के मुख्य द्वार पर झारखंड नवनिर्माण मोर्चा के बैनर तले स्थानीय जनता की ओर से आत्मदाह किया जाएगा जिसकी जिम्मेवारी स्थानीय विधायक स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी की होगी।

झारखंड नवनिर्माण मोर्चा के मीडिया प्रभारी राहुल कुमार दुबे ने कहा कि स्थानीय विधायक रहे सूबे के स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी विश्रामपुर विधानसभा के सभी पंचायतों में स्वास्थ्य केंद्र व उप स्वास्थ्य केंद्र का विशाल भवन निर्माण कराने में कामयाब जरूर हुए। जिसके बदले उन्हें मोटी राशि प्राप्त हुई लेकिन स्वास्थ्य मंत्री को इसकी चिंता नहीं की नवनिर्मित भवन में चिकित्सक या स्वास्थ्य कर्मी की पदस्थापना करा कर स्थानीय लोगों को स्वास्थ्य संबंधी सुविधा दी जा सके। राहुल ने कहा कि विश्रामपुर विधानसभा की जनता स्वास्थ्य मंत्री की नाकामी व स्वार्थ सिद्ध होने की कहानी को जान चुकी। इस बार ऐसे लोगों से छुटकारा लेने का संकल्प भी लिया है। कहा कि विश्रामपुर विधानसभा के प्रत्येक गांव का भ्रमण कर स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी की नाकामी को सामने ला रहे हैं। जिससे यहां के लोगों को संगठित और एकजुट होकर अगले चुनाव में सबक सिखा सके।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *