दिपिका ने पलामू को झकझोरा

पलामू

कहा, बेटी नहीं दुनिया बचाओ

पलामू की बेटियों में दीपिका ने देखा अपना अश्क

खुद पर भरोसा रखो ये शब्द हैं झारखंड ही नहीं भारत का स्वर्णिम इतिहास विश्व पटल पर लिखने वाली भारतीय तिरंदाज पद्मश्री दिपिका कुमारी का। खुद पर भरोसा रखो के संदेश के साथ पलामू की बेटीयों को कामयाबी का मंजिल छुने का हौसला देने आई स्वर्ण पदक विजेता दिपिका ने जता दिया कि बेटीयों को बचाने की जरूरत नहीं है… बेटियां हैं तो दुनिया है, फिर संसार को बचाना है तो बेटियों को उड़ने के लिए पंख देना होगा।

झारखंड माटी कला बोर्ड के सदस्य अविनाश देव के आमंत्रण पर संत मरियम आवासीय विद्यालय के वार्षिकोत्सव में पलामू पहुंची रांची की बेटी ने संघर्ष की धरती पर पहली बार पहुंचने पर जितना हर्ष जताया, उतना ही यहां की बेटियों से मिलकर अपना अश्क देख प्रफुल्लीत भी हुई।

वहीं वार्षिकोत्सव के बहाने ही सही संत मरियम के बच्चों ने गीत-संगीत-नृत्य की मनोरंजक एवं मनोरम छटा बिखेरी। पलामू जिला मुख्यालय स्थित शिवाजी मैदान में कव्वाली हो या फिर नाटक का मंचन बेटियों को शिखर तक पहुंचाने का संकल्प लेने, उन्हें उनका सम्मान देने पर जोर दिया गया… और संदेश के साथ बेहतर प्रस्तुती ने तमाम अतिथि, आगंतुक, अभिभावक समेत पलामू में पहली बार पदार्पण हुई बेटियों की रोल मॉडल दिपिका कुमारी को अपना कायल बना डाला।

बेटी बचाओ अभियान सहित बेटियों के लिए समाज को नयी सीख देते पलामू के विवेकानंद अविनाश देव का ये प्रयास काबिलेतारीफ ही नहीं ऐतिहासिक है, जब विश्व की नंबर एक तीरंदाज दिपिका जैसी सुबे की बेटियाँ का पलामू में पदार्पण हो रहा है। दिपिका ने खुद पर भरोसा रखने का संदेश देकर हौसला बढ़ाया है… जिसके बाद कामयाबी पर कई बेटियाँ निशाना साधेंगी, जिसका श्रेय दिपिका के मुखमंडल का और अविनाश के अविनाशी का होगा।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *