प्रताड़ना रोकने के लिए भाई ने पहुँचाया 5 हजार, ससुराल वालो ने फिर भी नही छोड़ा

पलामू

लेस्लीगंज फिर दहेज के लोभीयों ने चंद पैसों के स्वार्थ में एक विवाहिता की बली दे दी, ये कहना है लेस्लीगंज थाना क्षेत्र के रेवारातू निवासी मृत महिला रेबुन बीबी के पिता का… जिसने अख्तर अंसारी को अपने बेटी का हाथ ढेरों अरमान के साथ सौंपा था, पर दहेज लोभीयों से उन अरमानों पर तो पहले ही पानी फिर गया जब अपने ताकत भर निकाह के वक्त ही उसने दहेज में लाखों नगद समेत समान दिया था, पर जब तब काम के बहाने पैसों का मांग जारी रहा…

15 दिन पहले मृतक रेबुन के ससुराल वालों ने घर ढालने के लिए तीस हजार रूपये की मांग की थी, पर दे पाने में अक्षम मृतक के पिता मुस्तफा अंसारी ने समय मांगा था, और बढ़ते प्रताड़ना से तंग मुस्तफा के बेटे या कहें मृतका के भाई इद्रीश ने अपने बहन के ससुराल महज चार दिन पहले जाकर पांच हजार रूपये दे आया था , ताकि उसकी बहन के साथ घरवाले गलत ना करें पर पांच हजार का देना भी उन लालचियों का पेट ना भर सका, लड़की और लड़की के परिवार वालों को एटीएम मशीन समझने वालों ने आखिरकार एक इंसान की ही जिंदगी निगल ली… और शव को खेत में फेंक दिया… हालांकि सुबह तड़के पुलिस आने से पूर्व शव को घर मे लाकर भी रख दिया… पुलिस ने शव का अंत्यपरीक्षण कर मामले की जांच में जुट गई है… दर्ज प्राथमिकी के अनुसार प्रथम दृष्टया दहेज को ही वजह मान पुलिस ने छानबीन तेज कर दी है… पर सवाल है कि आखिरकार मुस्लिम समुदाय में दहेज प्रथा के प्रति जागरूक करने, समाज को एकजुट करने के लिए लगातार प्रयास जारी हैं बावजूद इस तरह की घटना घटित होना इस बात की ओर इशारा करता है कि लोभीयों का कोई धर्म नहीं होता, उनका इमान पैसा होता है… जिसके लिए दरिंदगी पर भी उतारू होने में ये देर नहीं करते हैं… जिन्हें समाज में रहने का तो हक है ही नहीं…।।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *