पूछताछ में बिरसाई ने किए अहम खुलासे, दी ट्रेनिंग और अन्य दस्तों की जानकारी

पलामू

 

आत्मसमर्पण करने वाले 25 लाख के इनामी माओवादी कमांडर बिरसाई ने कई अहम खुलासा किया. उसने बताया कि बूढ़ापहाड़ इलाके में दिवंगत इनामी माओवादी अरविंद का बॉडीगार्ड रहा अमन और संतु भुइयां कई बार दस्ते को ट्रेनिंग दे चुके हैं.

पूछताछ के बाद बिरसाई ने माओवादियों के कोयल शंख जोन के पूरे सांगठनिक ढांचे के बारे में जानकारी दी. माओवादियों के कोयल शंख जोन और झारखंड छत्तीसगढ़ सीमा पर आंध्रप्रदेश का नक्सली संतोष और संतु भुइयां दस्ते को हथियार चलाने की ट्रेनिंग देते हैं. ये दोनों नक्सलियों के हथियार एक्सपर्ट हैं. उसने यह भी बताया कि इस जोन में नया कैडर नहीं मिल रहा है. संगठन सदस्यों की कमी से जूझ रहा है. बिरसाई ने पुलिस को बताया है कि कोयल शंख जोन का सचिव बुधेश्वर उरांव है. जो गुमला का रहनेवाले है, शंख जोन में पलामू और गढ़वा के कुछ भाग, पूरा लातेहार, लोहरदगा, गुमला और सिमडेगा है.

गढ़वा सबजोन में एक दस्ता है जिसका नेतृत्व मृत्युंजय भुइया करता है. उसके पास इंसास रायफल भी है. दक्षिणी लातेहार सबजोन का नेतृत्व बलराम उरांव कर रहा उसके दस्ते में 10 से 12 सदस्य है. लोहरदगा सबजोन में मुनेश्वर गंझू नेतृत्व कर रहा है. उसके दस्ते में भी करीब 8 से 10 सदस्य है. गुमला और सिमडेगा सबजोन के बारे में बिरसाई को अधिक जानकारी नहीं थी.

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *