घंटे भर रुकी रही एंबुलेंस, तड़पता रहा मरीज

लातेहार

चंदवा : टोरी समपार फाटक 12 ए/टी पर घंटे भर एक एंबुलेंस रुकी रही। एंबुलेंस पर सात वर्षीय सविता कुमारी (पिता स्व. हुलास गंझू) तड़पती रही। बावजूद इसके वहां खड़ी पुलिस मूकदर्शक बनी रही, जबकि कंस्ट्रक्शन का कार्य करा रहा ठेकेदार अपनी डफली अपना राग अलापने में व्यस्त रहा।

एम्बुलेंस चालक अनिल यादव की मानें तो सीएचसी का 108 एंबुलेंस चेटुआग से दो दिन से बुखार से पीड़ित बच्ची सविता को लेकर हॉस्पिटल आ रही थी। क्रासिंग जाम में करीब पौन घंटे से अधिक उसे इंतजार करना पड़ा। प्रत्यक्षदर्शी सामाजिक कार्यकर्ता अयूब खान, साजिद खान व प्रसाद साव आदि की मानें तो एंबुलेंस का चालक सायरन बजाता रहा लेकिन वहां तैनात पुलिस व कंस्ट्रक्शन कंपनी के संवेदक ने तनिक भी परवाह नहीं की। यदि वो लोग चाहते तो क्रॉ¨सग गेट खोलकर एंबुलेंस को निकाला जा सकता था। एम्बुलेंस को पास कराने के लिए सामने रेल पुलिस भी मूकदर्शक बना रहा। वहां मौजूद लोगों ने इसे ठेकेदार की शर्मनाक हरकत बताया। कहा कि सिर्फ कंस्ट्रक्शन कार्य के लिए एंबुलेंस व आम जनता को 45 मिनट तक रोका जाना किसी भी दृष्टिकोण से उचित नहीं है। यह रेल मैनुअल का उल्लंघन है। रेल और कंस्ट्रक्शन ठेकेदार मनमानी कर रहे हैं। यह जाम नहीं अपितु कंस्ट्रक्शन के नाम पर लोगो को बंधक बनाने के जैसा है। यदि क्रासिंग बंद कर कार्य करना हो तो रेल प्रशासन को आपातकाल के लिए विशेष व्यवस्था करनी चाहिए थी। रोगी की माता डोमनी देवी ने कहा कि बच्ची बुखार से तड़पती रही। लगभग एक घंटे बाद उसे हॉस्पिटल पहुंचाया गया।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *