पति ने पत्नी की ब्लेड से गला रेतकर किया निर्मम हत्या

पलामू जिले के नावा बाजार थाना क्षेत्र के कंडा पंचायत के सिंजो गांव के माधी टोला की सबिता देवी (35 वर्ष) की हत्या हो गयी है । उसका शव उसके घर से करीब 200 मीटर की दूरी पर पड़ा हुआ था

पति ने पत्नी की ब्लेड से गला रेतकर किया निर्मम हत्या






पलामू : पलामू जिले के नावा बाजार थाना क्षेत्र के कंडा पंचायत के सिंजो गांव के माधी टोला की सबिता देवी (35 वर्ष) की हत्या हो गयी है । उसका शव उसके घर से करीब 200 मीटर की दूरी पर पड़ा हुआ था । सबिता का आधा गरदन ब्लेड से काटा हुआ था । घटना स्थल के खून फैला हुआ है । आसपास के लोगों का कहना है कि रविवार की बीती रात संभवत: नौ-दस बजे उक्त घटना को अंजाम दिया गया होगा ! संदिग्ध पति को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है ।

इस घटना  की जानकारी नावा बाजार पुलिस को सोमवार को मिली । मौके पर पुलिस पहुंची तो मृतक का शव उसके घर में मिला पता चला कि परिजन सबिता का शव रात में ही अपने घर ले आये थे । सुबह होते ही परिजनों द्वारा उसके शव के अंतिम संस्कार की तैयारी थी । थाना प्रभारी राकेश कुमार रवि और कुणाल राजा ने शव को अपने कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए पीएमसीएच भेजा ।

मृतका के कथित हत्या स्थल के समीप खून तो बिखरा था लेकिन मरने के क्रम में तड़पने के निशान वहां नहीं थे । कुछ दूर पर ही एक लेडिज पैंटी पड़ा था । घटना स्थल पर ज्यूरिक ब्लेड का कवर मिला लेकिन वह ब्लेड वहां पर मिला जहां महिला पति के साथ घर के बाहर सोती थी । वहीं पर मृतका की टूटी हुयी चूड़ियाँ भी मिलीं । रस्सी भी मिला और घर से दारू का बोतल भी ।
सुरेन्द्र भूईयां चार जवान बच्चों का पिता है । उसके तीन बच्चों की शादी हो चुकी है । बताया जा रहा है कि नाती-पोता वाले इस अधेड़ का समीप के ही किसी महिला से नाजायज संबंध थे । इसी बात को लेकर पति-पत्नी में अक्सर विवाद होता रहता था । अवैध संबंध प्रकरण पर सुरेंद्र भूईयां और उसकी पत्नी सबिता देवी के बीच रविवार को भी विवाद हुआ था । रात में दोनों खा-पीकर घर के बाहर सोने निकले थे ।
सबिता की हत्या की रात उसके तीन पुत्र, पतोहू और एक पुत्री घर में मौजूद थे । लेकिन घटना की बावत सबके सुर अलग अलग हैं । पुत्री गुंजा देवी ने बताया कि रात्रि में खाना पीना के बाद मम्मी-पापा घर के बाहर सोने चले गए थे । नौ-दस बजे रात्रि में घर से 200 मीटर की दूरी पर उसकी मां  का शव पड़ा हुआ था । जहां से रात्रि में ही शव को उठाकर घर में लाया गया । गांव के किसी व्यक्ति को इस घटना की  सूचना नहीं थी । लेकिन परिजनों ने भी स्वीकार किया कि एक अवैध संबंध का विरोध करने पर दोनों के बीच झगड़े होते थे ।