महाराष्ट्र के औरंगाबाद में घर लौट रहे 16 मजदूर मालगाड़ी से कटे

Maharashtra News: Aurangabad Train Accident : औरंगाबाद में ट्रेन की पटरी पर सो रहे मजदूरों (Migrant Workers) को नींद में ही मौत आ गई। मालगाड़ी (Train run over Migrant workers) से कटकर करीब 16 मजदूरों की मौत हो गई। मरने वालों में कई बच्चे भी शामिल हैं।







नई दिल्ली : एक बड़ी खबर महाराष्ट्र के औरंगाबाद से है, जहां पर पटरी पर सोए 16 प्रवासी मजदूरों पर से ट्रेन गुजरने के चलते मौत हो गई, टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक सभी मजदूर रेलवे ट्रैक पर सो रहे थे, यह हादसा औरंगाबाद जालना रेलवे लाइन पर हुआ, मिली जानकारी के अनुसार यह घटना औरंगाबाद-जालना रेलवे लाइन पर शुक्रवार सुबह 5:15 बजे हुई, फ्लाईओवर के पास पटरियों पर सो रहे 16 प्रवासी मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई है, मरने वालों में मजदूरों के बच्चे भी शामिल हैं।

कहा जा रहा है कि सभी मजदूर एक स्टील फैक्ट्री में काम करते थे और सभी मजदूर औरंगाबाद से गांव जानेवाली ट्रेन पकड़ने के लिए जालना से औरंगाबाद पैदल जा रहे थे, रात अधिक होने के चलते सभी ने सटाना शिवार इलाके में पटरी पर ही अपना बिस्तर लगा लिया। सुबह इसी पटरी से एक माल गाड़ी गुजरी और 16 मजदूर उसकी चपेट में आ गए और 5 मजदूर गंभीर रूप से घायल हैं, जिन्हें औरंगाबाद सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

दक्षिण सेंट्रल रेलवे की चीफ पब्लिक रिलेशन ऑफिसर का कहना है कि औरंगाबाद में कर्माड के पास एक हादसा हुआ है, जहां मालगाड़ी का एक खाली डब्बा कुछ लोगों के ऊपर चल गया है, आरपीएफ और स्थानीय पुलिस मौके पर मौजूद है। मालूम हो कि लॉकडाउन के कारण देशभर में मजदूर फंस गए हैं, हालांकि केंद्र सरकार की ओर से मजदूरों को उनके राज्य वापस भेजने की इजाजत दे दी गई है, जिसके बाद राज्य सरकारों ने बसों की व्यवस्था कर अपने मजदूरों को बुलाया है, इसके अलावा रेलवे की ओर से स्पेशल श्रमिक ट्रेन भी चलाई गई हैं, जो मजदूरों को उनके राज्य पहुंचा रही हैं।


घटना पर रेलवे की सफाई

हादसे पर रेलवे ने बयान जारी कहा, 'ट्रैक पर कुछ मजदूरों को देखकर लोको पायलट ने ट्रेन रोकने की कोशिश की लेकिन तब तक मजदूर उसकी चपेट में आ चुके थे। घटना बदनारपुर और करमाड स्टेशन के बीच परभानी-मनमाड़ सेक्शन की है। घायलों को औरंगाबाद सिविल अस्पताल ले जाया गया है। जांच के आदेश दिए गए हैं।'

शिवराज ने किया मुआवजे का ऐलान
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने औरंगाबाद घटना पर दुख जताते हुए मृतक मजदूरों के परिवार को 5-5 लाख रुपए देने की घोषणा की है। मध्य प्रदेश सरकार एक विशेष विमान और टीम औरंगाबाद भेज रही। यह टीम घायल मजदूरों के उपचार सहित मृतक मजदूरों की समुचित व्यवस्था करेगी। शिवराज सिंह चौहान महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के संपर्क में है और घायल मजदूरों के उपचार संबंधी व्यवस्थाओं की जानकारी ले रहे हैं।

पीएम मोदी ने दुख व्यक्त किया
महाराष्ट्र दुर्घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख व्यक्त किया। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, 'महाराष्ट्र के औरंगाबाद में रेल हादसे में जानमाल के नुकसान से बेहद दुखी हूं। रेल मंत्री पीयूष गोयल से बात की है, वह स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। हर संभव सहायता प्रदान की जा रही है।'

गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया, 'महाराष्ट्र रेल हादसे के कारण जान-माल का नुकसान शब्दों से परे हैं। मैंने रेल मंत्री पीयूष गोयल के साथ केंद्र सरकार और रेलवे प्रशासन से संबंधित अधिकारियों से बात की है और हरसंभव सहायता करने के लिए कहा है। मेरी संवेदना शोक संतृप्त परिवारों के साथ है।'

रेल मंत्री ने ट्वीट किया
वहीं रेल मंत्री पीयूष गोयल ने लिखा, 'आज 5:22 AM पर नांदेड़ डिवीजन के बदनापुर व करमाड स्टेशन के बीच सोये हुए श्रमिकों के मालगाड़ी के नीचे आने का दुखद समाचार मिला। राहत कार्य जारी है, और इंक्वायरी के आदेश दिए गए हैं। दिवंगत आत्माओं की शांति हेतु ईश्वर से प्रार्थना करता हूं।' उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने भी शोक व्यक्त किया।