मंत्री के घर में कंपनी का खेल

पलामू

पलामू : सुबे के स्वास्थय मंत्री के गृहजिले में ही आउटसोर्सिंग कंपनियों का मनमानी सर चढ़ कर बोल रहा है… निर्धारित वेतन से आधे से भी कम एवं महीनों महीने से बकाया होने के बावजूद सदर अस्पताल, मेदिनीनगर में कार्यरत कंपनी बालाजी पर किसी का कोई प्रभाव नहीं है… कर्ताधर्ताओं के चुप्पी का ये आलम रहा कि अंत में कर्मचारियों ने सांकेतिक दो दिवसीय हड़ताल से विरोध का बिगुल फूंक दिया है…। अस्पताल के मुख्य दरवाजे पर बैठे कर्मीयों ने बालाजी कंपनी पर सोलह हजार रूपये के बदले पांच हजार रूपये वेतन भूगतान करने का गंभीर आरोप मढ़ा है, वहीं नौ-दस माह से बकाया रख उन्हें भूखों मरने के लिए छोड़ने का भी संगीन आरोप लगाया है।

वहीं कर्मियों के हड़ताल पर जाने से सदर अस्पताल की चरमराई व्यवस्था की जानकारी मिलने पर अस्पताल सुधारने के लिए संकल्पित युवा पलामू ने कर्मचारियों को समर्थन कर कंपनियों के मनमाने पर लगाम लगाने के लिए भीड़ने की मंशा जाहिर कर दी है। युवा पलामू की माने तो भाजपा के राम राज्य के सपने को दींया लग चुका है… कॉरपोरेट के हाथों बिककर सरकार स्थानीय युवाओं का हक और रोजगार को छिन रही है… जल्द इस पर सुधार होता नहीं दिखा तो कंपनी को तो महंगा पड़ेगा ही सरकार को भी भारी पड़ेगा।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *