नेता बाप का बिगड़ा बेटा, गया जेल

पलामू

सफेदपोश बन लूटने को लालायित असमाजिक तत्व समाजसेवी का चोला ओढ़ अपने कुकर्मों को अंजाम देने के लिए पैठ बनाने का तरीका अपना लिया है। ये कहना तब गलत नहीं होगा जब ऐसे ही एक समाजसेवी को पलामू पुलिस ने दबोच सलाखों के पीछे पहुंचा दिया। वो भी एक लड़की और उसके परिवार को तंगोतंग करने, बेवजह परेशान करने के साथ हथियार लहरा धमकी देकर पूरे परिवार को डराने के आरोप में।

दरअसल पलामू आरजेडी के बड़े नेता धनंजय पासवान का पुत्र आकाश गंगा का ये चेहरा बेनकाब हुआ है।
युवा समाजसेवी का चोला ओढ़ अपने नेता पिता के शह पर घृणित कार्य करने वाले बिगड़े बेटे को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल की चारदिवारी में कैद कर दिया।

बारालोटा निवासी राजद नेता धनंजय पासवान का बेटा आकाश गंगा अपने पिता के नाम का सहारा लेकर समाज में अपना धाक बनाते-बनाते इतना बहक गया कि उसने अपने ही एक लड़की दोस्त को शादी करने का दबाव बनाने के चक्कर में उसकी जिंदगी नर्क बना दी।

फिल्मों के विलेन के समान वो अपने दो-चार साथियों के साथ कभी राइफल दिखाकर तो कभी पिस्तौल लहराकर उसके घर के सामने गालीगलौज के साथ धमकी देना उसकी आदत बन गई थी।

बारालोटा पंचायत में मुखिया का चुनाव लड़ चुका आकाश, नाम के विपरीत पाताल में रहने लायक जहाँ दानव बन चुका था, वहीं गंगा की पवित्रता समान नारी को भी अपवित्र करने के मंसूबे से उत्पात मचा रहा था। अंत में लड़की की शादी नहीं होने देने एवं उसके अगवा होने के डर से लड़की के पिता ने पुलिस अधीक्षक को आवेदन देकर सुरक्षा की गुहार लगाई… फिर क्या था… पसंद की शादी दादागिरी से करने का ख्वाब पाल बैठा आकाश ससुराल के बजाय भगवान कृष्ण के जन्मस्थली पहुंच गया…

पलामू पुलिस कप्तान के निर्देश पर महिला थाना प्रभारी ने पुछताछ के लिए बुलाया और जांच में संदिग्ध पाकर उसे सलाखों के पीछे भेज दिया। युवा समाजसेवी, छात्र नेता, समेत कई पोस्ट लगा आकाश गंगा लोगों का हिमायती बनने का ढोंग कर लोगों के बीच पैठ बना रहा था, वहीं इस घटना से लोगों के सामने उसके समाज और इंसानियत के नाम पर कलंकित चेहरा भी बेनकाब हो गया।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *