लातेहार : सीआरपीएफ के प्रयास की ग्रामीणों ने की सराहना, कहा- CRPF के आने से सुरक्षित हुये लोग

लातेहार

लातेहार : छिपादोहर थाना अंतर्गत अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र टोंगरी में 112 बटालियन सीआरपीएफ के द्वारा सिविक एक्शन कार्यक्रम के तहत लगभग 500 स्कूली बच्‍चों के बीच स्कूली बैग एवं ग्रामीणों के बीच सोलर लाइट का वितरण किया गया.

इस दौरान कार्यक्रम के मुख्य अतिथि देवाशीष विश्‍वास ने कहा कि सीआरपीएफ के द्वारा चलाये जा रहे सिविक एक्शन कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य नक्सल क्षेत्र के ग्रामीणों को मुख्यधारा में लाने का प्रयास किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि सीआरपीएफ के इस प्रयास से कई सफलता भी मिली है. आज से कुछ वर्ष पहले जब सीआरपीएफ गांव में जाते थे, तो गांव में ग्रामीण पुलिस को देखते ही अपने घरों में दुबक जाते थे. पर जब से सीआरपीएफ सिविक एक्शन कार्यक्रम करना शुरू किया धीरे-धीरे गांव के ग्रामीण पुलिस के करीब आना शुरू किए. जिसका परिणाम आज सीआरपीएफ को मिल रही है, आज गांव के ग्रामीण सीधा सीआरपीएफ से जुड़े हुये हैं.

वहीं द्वितीय कमान अधिकारी संजय गौतम ने कहा कि सीआरपीएफ हमेशा ग्रामीणों के सहयोग के लिए तत्पर है, उन्होंने कहा कि सीआरपीएफ ग्रामीणों का हर प्रकार सहयोग करते आ रहा है और आगे भी हमेशा करते रहेगा.

उन्होंने कहा कि जिस तरह ग्रामीण सीआरपीएफ का सहयोग कर रहे हैं, उससे आज सीआरपीएफ ग्रामीण का आभार व्यक्त कर रहे हैं. लात मुखिया जगसहाय सिंह ने कहा कि जब से लात क्षेत्र में सीआरपीएफ आये हैं, यहां के ग्रामीणों में बहुत ही खुशहाली है. सीआरपीएफ यहां के ग्रामीणों को हर समय हर प्रकार का सहयोग करते रहती है. वहीं ग्रामीणों ने कहा कि गांव में जब से सीआरपीएफ आयी है, हमलोग पूरी तरह से सुरक्षित हैं.

इससे पहले हमलोगों को नक्सली परेशान किया करते थे, पर जब से यहां सीआरपीएफ आयी है, हमलोग सुरक्षित तो हैं ही साथ ही सीआरपीएफ के द्वारा कई प्रकार की सुविधा भी मिल रही है. इसके लिए हम ग्रामीण सीआरपीएफ का आभार व्यक्त करते हैं. वहीं मौके पर कमांडेंट देवाशीष विश्‍वास, द्वितीय कमान अधिकारी संजय गौतम, सहायक कमांडेंट बीरेंद्र कुमार एवं अजय कुमार,निरीक्षक कुलदीप सिंह, मुखिया जगसहाय सिंह समेत सैकड़ों ग्रामीण मौजूद थे.

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *