इस किले का रहा है स्वर्णीम इतिहास, पर अब खंडहर में हो रहा तब्दील

लातेहार

इतिहास को संरक्षित करने के लिए सरकार एक तरफ कई प्रकार के दावे करती है. पर उन दावों का पोल लातेहार जिले में स्थित ऐतिहासिक पलामू किले की वर्तमान स्थिति खोल रही है. आदिवासी समाज से जुडे़ चेरो राजा मेदिनीराय का यह किला देश भर में प्रचलित है.

काफी आकर्षक नक्काशी और कलाकारी का अद्भुत संगम के साथ किले में बना नागपुरी गेट आज भी लोगों का मनमोह लेता है. पर देखभाल के अभाव में उक्त किला खंडहर में बदलता जा रहा है.

हजारों पर्यटक प्रतिवर्ष आते हैं पलामू किला
पलामू किला का इतिहास किताबों और अन्य वेबसाइटों में उपलब्ध है. जिसे पढ़कर इसकी रोचकता को जानकर लोग यहां घूमने आते हैं. हर वर्ष पलामू किला में हजारों पर्यटक आते हैं. छठ के दूसरे दिन यहां दो दिवसीय मेला का भी आयोजन किया जाता है. जिसमें भारी भीड़ लगती है. पर्यटकों के लिए भी यहां कोई विशेष सुविधा नहीं है. किला के पास पीने के पानी तक की व्यवस्था नहीं है. 

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

1 thought on “इस किले का रहा है स्वर्णीम इतिहास, पर अब खंडहर में हो रहा तब्दील

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *