5 साल से अधूरा है गोदाम का कार्य, दो करोड़ की है लागत

लातेहार

सरकार के द्वारा भवन निर्माण कार्य करवा दिया जाता है. लेकिन यह काम हुआ या नहीं अथवा उसकी उपयोगिता क्या है, इसकी मॉनिटरिंग नहीं की जाती. इस कारण योजना का लाभ नहीं मिल पाता. लातेहार में बाजार समिति का एक गोदाम इसका जीता जागता उदाहरण है.

दरअसल, लगभग दो करोड़ की लागत से निर्माणाधीन यह गोदाम 5 वर्ष से अधूरा पड़ा हुआ है. योजना में डेढ़ करोड़ से अधिक खर्च भी कर दी गई है. उसके बाद गोदाम का कार्य अधूरा छोड़ कर संवेदक फरार हो गए है. इधर मार्केटिंग बोर्ड से बाजार समिति को अलग कर दिए जाने के कारण अब इस अधूरे भवन के मॉनिटरिंग करने वाला भी कोई नहीं रहा. वहीं, किसान नेता कन्हाई पासवान ने आरोप लगाया कि प्रशासन इस ओर सजग रहता तो अब तक गोदाम पूरा हो जाता.

किराए पर लिया जा रहा है गोदाम
वहीं,  एफसीआई, एसएफसी आदि के पास  गोदाम नहीं रहने के कारण इन्हें किराए पर प्राइवेट गोदाम लेना पड़ता है. इतना ही नहीं बल्कि गोदाम में के अभाव में धानक्रय के दौरान विभाग के द्वारा किसानों का धान भी नहीं खरीदा जाता. 

मामले की जांच कराएंगे
इस संबंध में जिला परिषद अध्यक्ष सुनीता कुमारी ने कहा कि भवन अधुरा रहना काफी चिंताजनक बात है. इस मामले की जल्द जांच करवाएंगे और जल्द ही गोदाम को पूरा करने के लिए विभाग पर दबाव डाला जाएगा. 

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

3 thoughts on “5 साल से अधूरा है गोदाम का कार्य, दो करोड़ की है लागत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *