परीक्षा केंद्र होम सेंटर ही रखा जाए – ABVP

लातेहार

चंदवा बालूमाथ का सेंटर लातेहार किए जाने से परीक्षार्थी हैं परेशान

सांसद सुनील कुमार सिंह ने कहा कि जल्द होगा समस्या का समाधान परीक्षार्थी घबराएं नहीं

चंदवा और बालूमाथ प्लस टू उच्च विद्यालय के इंटरमीडिएट परीक्षार्थियों का सेंटर लातेहार किए जाने के बाद से ही परीक्षार्थियों में काफी तनाव है। तनाव होना भी लाजमी है क्योंकि लातेहार सेंटर होने के बाद परीक्षार्थियों को परीक्षा देने के लिए आने जाने में काफी परेशानियां उठानी पड़ेगी। खासकर गरीब घरों की लड़कियों को। छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के मंटू केसरी, मनीष गुप्ता,नवनीत कुमार, राहुल कुमार और भाजयुमो के दीपक प्रसाद और रोहित शाहदेव ने सांसद सुनील कुमार सिंह से इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग करते हुए कहा कि चंदवा और बालूमाथ का जो सेंटर पहले से था,उसी को यथावत करावाने का आग्रह किया है। बात करें चंदवा की तो चंदवा प्लस टू उच्च विद्यालय में लगभग 800 इंटरमीडिएट के छात्र छात्राएं हैं। चंदवा का परिधि लगभग 16 किलोमीटर है। चंदवा मुख्यालय से लातेहर मुख्यालय की दूरी लगभग 30 किलोमीटर है। ऐसे में परिस्थितियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि इंटरमीडिएट की परीक्षा दो से पांच होनी है। ऐसी स्थितियों में परीक्षार्थियों को लातेहार में ही डेरा लेना होगा। जबकि लातेहार में यदि सेंटर हुआ तो इतनी बड़ी संख्या में छात्र छात्राओं को ठहराने के लिए कोई विशेष इंतजामात नहीं है। पुराने परीक्षा केंद्र को पुनः बहाल कराने की मांग को लेकर शुक्रवार की सुबह बालूमाथ में इंटरमीडिएट के परीक्षार्थियों ने बालूमाथ सड़क जाम कर रखा था।

कहाँ कहाँ था सेंटर

बालूमाथ प्लस टू उच्च विद्यालय का सेंटर बरियातू उच्च विद्यालय था। जबकि चंदवा प्लस टू उच्च विद्यालय का सेंटर कन्या उच्च विद्यालय था। दोनों प्रखंडों का सेंटर लातेहार कर दिया गया। जिसके कारण छात्र-छात्राओं में आक्रोश है। चंदवा के ख्रीस्त राजा उच्च विद्यालय में इंटरमीडिएट का परीक्षा केंद्र बनाया जा सकता है। यद्यपि दोनों प्रखंडों में पर्याप्त मात्रा में भवन और पुलिस बल है।

समस्या का समाधान होगा – सुनील सिंह

इस संबंध में बात करने पर सांसद सुनील कुमार सिंह ने कहा कि सभी परीक्षार्थी पढ़ाई में ध्यान दें। उनकी समस्या का समाधान जरुर होगा। किसी भी परीक्षार्थियों को तनाव में रहने की आवश्यकता नहीं है। मैं स्वयं शिक्षा सचिव और शिक्षा मंत्री से बात कर परीक्षार्थियों को असुविधा ना हो उनके अनुरूप परीक्षा केंद्र की व्यवस्था करवाऊंगा। कदाचार मुक्त परीक्षा कराना सरकार की एक अच्छी पहल है। परीक्षार्थियों को परेशानी ना हो इसका भी ख्याल रखा जाएगा।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *