प्रधानमंत्री को उनके जन्मदिन पर पारा शिक्षको ने खून से लिखा पत्र भेजा

पलामू

 

पहले तो खून से प्रेम पत्र लिखे जाते थे. दिवानेपन के शिकार आशिक अपने खून से माशुका के नाम प्रेम पत्र लिखा करते थे. डिजिटल युग में अब पत्र तो गायब हो गया, लेकिन आज मेदिनीनगर में पत्र लिखा गया और वो पत्र खून से लिखा गया  वो भी बहुमत पाए सरकार के प्रधानसेवक यानि प्रधानमंत्री मोदी को।

जी हां ये सच है. सूई देने वाले सिरिंच से खून निकाल निकाल कर अपने सेवा स्थायीकरण, वेतनमान समेत कई मांगों पर अड़े पारा शिक्षकों ने पलामू जिला मुख्यालय स्थित कचहरी परिसर में खून से पत्र लिखकर सरकार के रवैये पर करारा प्रहार किया है। हालांकि इस दौरान पुलिस ने रोकने की कोशिश की जिसमें पारा शिक्षकों एवं पुलिस के बीच जमकर झड़प भी हुई।पत्र में पारा शिक्षकों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जन्मदिन की बधाई देते हुए पारा शिक्षकों के हालात से अवगत भी कराया है।

बहरहाल पुलिस उपाधीक्षक के पहुंचने पर माहौल शांत करा लिया गया. मगर सवाल तो है कि ऐतिहासिक पलामू के पारा शिक्षकों ने इतिहास रचते हुए खून से पत्र लिखकर बहुमत पाए सुबे एवं केंद्र की सरकार पर करारा तमाचा जड़ दिया है. जब सालों से आंदोलनरत पारा शिक्षकों को खून तक बहाना पड़ रहा है।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

1 thought on “प्रधानमंत्री को उनके जन्मदिन पर पारा शिक्षको ने खून से लिखा पत्र भेजा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *