सत्य व अहिंसा के पुजारी की मनाई गई पुण्यतिथि – गांधी जी के विचारों को आत्मसात करने की दोहराई संकल्प

पलामू

विश्रामपुर : सत्य व अहिंसा का पाठ पढ़ाने वाले राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि बुधवार को विश्रामपुर थाना चौक स्थित आदमकद प्रतिमा की मनाई गई। आरसीआईटी के निदेशक सह युवा भाजपा नेता ईश्वर सागर चंद्रवंशी ऊर्फ मुन्ना चंद्रवंशी, प्रखंड प्रमुख संतोष कुमार चौबे, गांधी विचार मंच के अध्यक्ष रविंद्र नाथ उपाध्याय, मंत्री प्रतिनिधि रामचंद्र यादव, मंडल अध्यक्ष कृष्ण मुरारी सिंह, पंसस मखिरन तिवारी, बीडीओ विनय कुमार, आदि  ने महात्मा गांधी की आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण कर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। 

युवा भाजपा नेता ईश्वर सागर चंद्रवंशी ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने आज़ादी के लिए अपना सब कुछ न्योछावर कर दिया। उनका सम्पूर्ण जीवन ही मानवतावाद की अभिव्यक्ति रहा। वे सम्पूर्ण मानवता के लिए एक आदर्श पुरुष हैं। कहा कि आज भी उनके विचार व आदर्श मानवता के लिए प्रासंगिक व अनुकरणीय हैं। जीव मात्र के प्रति उनका करुणा, समन्वय, आदर्शों के प्रति संकल्प व उन आदर्शों का अपने जीवन में दृढ़ता से पालन करना, उनके इन महान गुणों से प्रेरणा मिलती है।  प्रखंड प्रमुख संतोष कुमार चौबे ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी सत्य व अहिंसा के शाश्वत मूल्यों का साकार रूप थे। उनके द्वारा दिखाये गए मार्ग व उनके मूल्यों पर चलने की प्रतिबद्धता व्यक्त करते हैं। साथ हीं कहा कि हम नमन करते हैं जो आजादी दिलाने के लिये देश के नाम अपनी कुर्बानी दी। गांधी विचार मंच के अध्यक्ष रविंद्र नाथ उपाध्याय ने कहा कि गांधी जी की देश सेवा व बलिदान के प्रति समर्पण एक सच्ची श्रद्धांजलि होगी। मंत्री प्रतिनिधि रामचंद्र यादव ने कहा कि सम्पूर्ण विश्व को सत्य व अहिंसा के लिए प्रेरित करने वाले एकमात्र राष्ट्रपिता महात्मा गांधी थे। जिन्हें कोटि-कोटि नमन। शत्-शत् नमन। मौके पर पंचायत समिति सदस्य राम शरीक तिवारी, विश्रामपुर बीडीओ विनय कुमार, संजय मिश्रा, छोटन पांडेय आदि कई लोग मौजूद थे।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

1 thought on “सत्य व अहिंसा के पुजारी की मनाई गई पुण्यतिथि – गांधी जी के विचारों को आत्मसात करने की दोहराई संकल्प

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *