पलामू : एसईसीसी लिस्ट का जियो टैग नहीं होने के कारण ग्रामीणों में आक्रोश

पलामू ब्रेकिंग न्यूज़

पलामू : नौडीहा प्रखंड के अंतर्गत सरईडीह पंचायत में लगभग 500 ग्रामीणों का एसईसीसी सूची का स्वयं सेवक के द्वारा जियो टैग नहीं दिए जाने के कारण ग्रामीणों ने रविवार को सरईडीह यज्ञसाला के प्रांगन में हो हंगाम मचाया और नाराजगी जाहिर की.

उल्लेखनीय है कि नौडीहा प्रखंड क्षेत्र के सरईडीग पंचायत के मुखिया के द्वारा सांसद की अनुशंसा पर एसईसीसी सूची में ग्रामीणों का नाम जोड़ने के लिए भेजा गया था. जिसमें से लगभग 583 लोगों का एसईसीसी सूची में नाम आ भी गया.

स्वयं सेवक नागेन्द्र यादव और योगेंद्र यादव ने बताया कि जियो टैग करने की अंतिम तिथि 30 नवंबर थी और 30 नवंबर को ही मुझे यह लिस्ट मिली. हमलोग लगभग 10-15 लोगों का ही जियो टैग कर पाए थे कि जियो टैग बंद हो गया.  पंचायत मुखिया नरेश यादव ने इस संबंध में फौन पर जानकारी देते हुए कहा कि हमने एसईसीसी सूची के जियो टैग से संबंधित ग्रामीणों की समस्या को विधायक और सांसद के समक्ष रखा है.

वहीं प्रखंड विकास पदाधिकारी अभय कुमार ने मोबाइल पर जानकारी देते हुए बताया कि अभी जियो टैग होना बंद हो गया है. जैसे ही जियो टैग होना प्रारंभ होगा जिन ग्रामीणों को छुट गया है उन्हें जियो टैग करा दिया जाएगा. मौके पर प्रवेश कुमार सिंह, शिव दयाल सिंह, बलराम साव, मनोज कुमार, धनन्जय गुप्ता, वहिदा बिबी, सुशीला कुंअर, गुलाबी कुंअर जित बहन साव सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित थे.

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

3 thoughts on “पलामू : एसईसीसी लिस्ट का जियो टैग नहीं होने के कारण ग्रामीणों में आक्रोश

  1. Hi there, this weekend is nice designed for me, since this
    point in time i am reading this enormous educational article here at my
    house.

  2. Simply desire to say your article is as surprising.
    The clearness on your publish is just spectacular and
    that i can think you’re an expert in this subject.
    Well along with your permission let me to take hold of your feed to keep
    up to date with imminent post. Thanks 1,000,000 and please carry
    on the rewarding work.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *