मां की ममता ने जीत ली जिंदगी, नवजात को बचाने के लिए दे दी दोनों पैरों की कुर्बानी

पलामू

पलामू : कहते हैं मां अपने बच्चे को बचाने के लिए कुछ भी कर सकती है. कुछ ऐसा ही एक मां ने अपने बच्चे की जान बचाने के लिए किया. लेकिन अपने बच्चे को बचाने के लिए उसे दोनों पैर गंवाने पड़े.

जानकारी के अनुसार डालटनगंज रेलवे स्टेशन के करीब 500 मीटर की दूरी पर रेडमा ओवरब्रिज के पास सुचिता देवी नामक महिला पटरी पार कर रही थी. इसी क्रम में मालगाड़ी आने लगी. मालगाड़ी पर नजर पड़ते ही गोद में पड़े बच्चे को बचाने के लिए सुचिता पटरी के बीचों-बीच लेट गई. मालगाड़ी की चपेट में आने से उसके दोनों पैर कट गए. इस घटना में नवजात को एक खरोंच तक नहीं आई.

जीआरपी पुलिस और यात्रियों के मदद से महिला को सदर अस्पताल भर्ती कराया गया. सुचिता देवी के पति की मौत एक साल पहले हुई है. डॉक्टर ने बताया कि महिला का दोनों पैर कट जाने से खून अधिक बह गया है. महिला के ऑपरेशन के लिए चार से पांच यूनिट ब्लड की आवश्यकता पड़ेगी. फिलहाल महिला को एक यूनिट दिया गया है. वहीं, बच्चे को सीडब्ल्यूसी ने अपने संरक्षण में ले लिया है.

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

1 thought on “मां की ममता ने जीत ली जिंदगी, नवजात को बचाने के लिए दे दी दोनों पैरों की कुर्बानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *