अम्बा : ससुराल की दहलीज तक पहुंचने से पहले पत्नी ने छोड़ा अपने पति का साथ, विदाई कराकर लौटने के दौरान हुआ हादसा

देश ब्रेकिंग न्यूज़

अम्बा (औरंगाबाद) : दुःख का कोई इंतहा नही होता, कब कैसे कहाँ किंस रूप में किसे घेर ले ये अनुमान लगाना भी मुश्किल है. ऐसा ही एक दर्दनाक हादसा सामने आया है, जो घटनास्थल पर था उसकी बात तो छोड़ दीजिए, सिर्फ घटना की कहानी सुनकर आपके जेहन से बरबस आह जरूर निकल जायेगी. नया नवेला जोड़ा, सोमवार की रात में शादी हुई और खुशी-खुशी दूल्हा अपनी दुल्हन को उसके मायके से विदा करा कर अपने घर ले जा रहा था. रास्ते में दोनों अपनी नई दुनिया के हसीन सपने देख रहे थे. दुल्हन को मायका छूटने का गम था और वो उदास थी, तो दूल्हा उसे उदास देखकर उसे रास्ते भर खुश करने की कोशिश में लगा था, लेकिन क्या पता था कि नियति को दोनों का साथ शायद पसंद नहीं था. भगवान ने रात में दोनों का रिश्ता बांधा और सात जन्मों का साथ निभाने का वचन देने के बाद सुबह इस तरह इस जन्म में ही साथ छुट जाएगा. ये देखकर सबकी आंखें भर आयीं.

दरअसल, औरंगाबाद-अंबा पथ पर परसावां गांव के दोस्ताना होटल के पास  मंगलवार सुबह दो वाहनों की जोरदार टक्कर हो गई जिसमें शादी के बाद दूल्हा-दुल्हन को लेकर आ रही कार के परखचे उड़ गए और दुल्हन नेहा कुमारी की दूल्हे के सामने मौत हो गई. वहीं, दूल्हा उज्ज्वल कुमार भी गंभीर रूप से घायल हो गया है. उसका इलाज औरंगाबाद सदर अस्पताल में चल रहा है.

सोमवार की रात जयमाला के बाद नेहा और उज्ज्वल काफी खुश थे. दोनों की जोड़ी काफी शानदार थी. सात जन्मों तक साथ निभाने का वचन रात में ही तो दोनों ने एक दूसरे को दिया था. लेकिन अगली सुबह ही दुल्हन ने ससुराल के दहलीज पर पहुंचने से पहले ही दूल्हे के साथ छोड़ दिया. लिहाजा यह घटना हर किसी को झकझोर कर रख दी. जिसने भी सुना उसकी आंखें भर आई. दूल्हे के दोस्तों ने बताया कि शादी के बाद दूल्हा-दुल्हन काफी खुश थे. दूल्हे ने दोस्तों को स्पेशल पार्टी देने की बात कही थी. लेकिन उसके पहले ही यह मनहूस घटना हो गई.  नेहा नवीनगर के लखनपुर गांव निवासी अल्हा सिंह की इकलौती बड़ी बेटी थी. नेहा दो भाई बहनों में बड़ी थी, बचपन से ही नेहा पूरे घरवालों में सबसे प्यारी थी. लिहाजा शादी पूरे धूमधाम से की गई थी. बेटी की हर शौख का ख्याल घरवालों ने रखा था. यही वजह है कि घटना के बाद अब मायके में कोहराम मचा हुआ है. हर कोई चीख-पुकार रहा है.

मंगलवार की सुबह जब नेहा की विदाई हुई तो ससुराल जा रही नेहा को दुर्घटना से थोड़ी देर पहले सतबहिनी मन्दिर में उज्ववल ने माता का दर्शन करवाया था. दोनों ने हसीं खुशी रहने की मन्नत मांगी थी, लेकिन नियति को कुछ और मंजूर था, कार दूल्हे के जीजा चला रहे थे, तभी औरंगाबाद की ओर से एक बेलगाम ट्रक को ऑटो से ओवरटेक करते हुए तेज गति से आते देख कार को साइड कर लिए लेकिन ट्रक ने कार के परखच्चे उड़ा दिए और 2 परिवारों को जिंदगी भर का दर्द दे गया.

सोमवार को उज्ववल बारात लेकर नेहा के घर पंहुचा और मंगलवार की सुबह शादी में नेहा की मांग सजाई. अग्नि के समक्ष सात फेरे लिए और उसी दिन उसे अपनी दुल्हन को मुखाग्नि देनी पड़ी. इस घटना को जिसने भी देखा, सुना, दुल्हन के मेंहदी लगे हाथ पैर देख कोई भी अपना आंसू नही रोक पाया. घटना के बाद से पूरे इलाके में मातम पसरा हुआ है. दूल्हा के गांव ओबरा थाना के चेचाढ़ी गांव में ससुराल में ही दुल्हन का अंतिम संस्कार किया गया.

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *