श्री बंशीधर नगर : भारी मात्रा में जमीन में गड़ी मिली जीवन रक्षक एक्सपायरी दवाएं

गढ़वा ‎बड़ी ख़बर ब्रेकिंग न्यूज़

श्री बंशीधर नगर : अनुमंडलीय अस्पताल में बुधवार को भारी मात्रा में विभिन्न प्रकार की जीवन रक्षक एक्सपायरी दवाओं को जमीन में गाड़े जाने का मामला प्रकाश में आया है। जानकारी के अनुसार गाड़े गये एक्सपायरी दवाओं में वर्ष 2010 से लेकर 2013 तक की दवाएं शामिल हैं। इस बात का खुलासा गुरुवार को होने के बाद से स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मचा हुआ है। जानकारी के अनुसार ट्रामा सेंटर में संचालित अनुमंडलीय अस्पताल को पुराने भवन में शिफ्ट किया जाना है, उसी की आड़ में ट्रैक्टर से एक्सपायरी दवाओं की ढुलाई कर पुराने अस्पताल परिसर में ही जेसीबी मशीन से गड्ढा कर दवाओं को डाल मिट्टी से ढंक दिया गया है। मामला प्रकाश में आते ही अस्पताल प्रबंधन पसोपेश में है। जानकारी के अनुसार बगैर प्रक्रिया पूरा किये अस्पताल से भारी मात्रा में कबाड़ को भी बेच दिया गया है। कबाड़ी के यहां दवाएं मिलने के संदेह में पुलिस ने छापेमारी कर कबाड़ी समेत दो लोगों को हिरासत में लिया है। वहीं दवा के रद्दीकरण में भी प्रक्रिया पूरी नहीं की गई है जबकि अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि मई 2011 में अनुमंडलीय अस्पताल में भारी मात्रा में एक्सपायरी दवा जब्त की गई थी। उसी दवा को वर्ष 2015 में तीन सदस्यीय रद्दीकरण समिति द्वारा रद्दीकरण किया गया था। जिसे बुधवार को गड्ढे में डालकर डिस्पोज किया गया है। जबकि उक्त गड्डे में एल्बेंडाजोल की जो जनवरी 2013 में एक्सपायरी थी, नाटी टी जैड जो फरवरी 2012 में एक्सपायरी डेट था और एंटी मलेरियल कॉम्बी ब्लिस्टर पैक जो अगस्त 2012 में एक्सपायरी हुआ है। वह भी मिली जो अस्पताल प्रबंधन के दावों की पोल खोलने के लिए काफी है। अनुमंडलीय अस्पताल में एक ओर जहां मरीजों को हर दवा नहीं मिल पाता है, वहीं रखे रखे भारी मात्रा में दवाओं का एक्सपायर हो जाना अस्पताल प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा कर रहा है।

क्या है रदीकरण प्रक्रिया : चिकित्सकीय जानकारों के अनुसार अस्पताल में दवाओं का एक्सपायर होना कोई आश्चर्य की बात नहीं है। एक्सपायर हुई दवाओं को प्रक्रिया पूरी करते हुए डिस्पोज किया जा सकता है। उसके लिए अस्पताल की तीन सदस्यीय रदीकरण समिति गठित की जाती है और समिति एक्सपायर हुई दवाओं को सूचीबद्ध कर उसे डिस्पोज करने का लिखित प्रस्ताव पारित करती है। उसके बाद दवा को डिस्पोज किया जाता है लेकिन यहां समिति द्वारा 2011 में एक्सपायर दवाओं को डिस्पोज किये जाने का प्रस्ताव पारित किया जाता है और उसी की आड़ में 2011 के बाद एक्सपायर हुई दवाओं को डिस्पोज कर अपने नाकामी पर पर्दा डालने का प्रयास किया गया है।

क्या कहते हैं जानकर: चिकित्सकीय जानकारों का कहना है कि अस्पताल में इतने ज्यादा मात्रा में दवाओं का एक्सपायर होना पूर्ण रूप से अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही है। क्योंकि भारी मात्रा दवाओं का एक्सपायर होने का प्रमुख कारण दवाओं का नियमित रूप से स्टॉक पंजी का संधारण नहीं होना है। यदि नियमित रूप से स्टॉक पंजी का संधारण होता तो एक्सपायर होने से पूर्व उन दवाओं को आवश्यकतानुसार दूसरे अस्पतालों में भी भेजा जा सकता था।

इसकी जानकारी मिलने पर मैंने डीएस से पूछा तो बताया गया कि 2015 में प्रक्रिया पूरा करने के बाद दवाओं को डिस्पोज किया गया है। यदि 2011 के बाद की एक्सपायरी दवाओं को भी डिस्पोज किया गया है तो इसकी जांच कर दोषी के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

7 thoughts on “श्री बंशीधर नगर : भारी मात्रा में जमीन में गड़ी मिली जीवन रक्षक एक्सपायरी दवाएं

  1. I really love your site.. Very nice colors & theme. Did you make this
    amazing site yourself? Please reply back as I’m planning to create my own website and would love to learn where you got
    this from or just what the theme is named. Cheers!

  2. Have you ever considered about adding a little bit more
    than just your articles? I mean, what you say is valuable and all.
    Nevertheless think of if you added some great photos or videos to give your posts more, “pop”!
    Your content is excellent but with pics and clips, this blog could definitely be one of the very best in its niche.
    Good blog!

  3. This is really interesting, You’re a very professional
    blogger. I’ve joined your rss feed and sit up for seeking more of your fantastic post.
    Additionally, I’ve shared your website in my social networks

  4. I must express my appreciation to this writer for bailing me out of this instance. Right after checking through the world-wide-web and seeing things which were not productive, I figured my entire life was well over. Being alive minus the answers to the issues you’ve sorted out as a result of the post is a serious case, and ones that could have in a negative way affected my career if I hadn’t come across your blog. Your own ability and kindness in maneuvering a lot of stuff was invaluable. I am not sure what I would’ve done if I had not come upon such a stuff like this. It’s possible to at this point look ahead to my future. Thanks so much for the skilled and amazing help. I will not hesitate to refer your site to any individual who needs guide on this topic.

  5. I in addition to my buddies have already been analyzing the nice tips located on your web blog and so suddenly came up with an awful suspicion I had not expressed respect to the web blog owner for those strategies. Most of the men were definitely so glad to learn all of them and already have undoubtedly been taking pleasure in these things. We appreciate you genuinely indeed helpful and for getting this kind of cool information millions of individuals are really eager to be aware of. My sincere apologies for not saying thanks to you earlier.

  6. I’m just writing to let you be aware of what a useful encounter my wife’s princess gained using the blog. She figured out numerous issues, not to mention what it’s like to have an awesome teaching character to make certain people smoothly comprehend a variety of hard to do topics. You really exceeded our expected results. Thanks for showing such valuable, safe, revealing and also fun thoughts on that topic to Sandra.

  7. I simply wanted to jot down a brief message in order to appreciate you for all of the stunning ways you are giving on this site. My time consuming internet search has finally been recognized with high-quality strategies to write about with my friends and family. I ‘d state that that most of us visitors actually are truly fortunate to live in a remarkable website with so many special individuals with very beneficial methods. I feel quite lucky to have seen your web pages and look forward to some more exciting moments reading here. Thanks a lot once again for all the details.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *