पारा शिक्षकों पर लाठीचार्ज असहनीय : राहुल

पलामू

पलामू : अंतर्राष्ट्रीय ब्राह्मण महासंघ के प्रमंडलीय प्रभारी राहुल कुमार दुबे ने पारा शिक्षकों पर हुए लाठीचार्ज की कड़ी निन्दा की है और बताया की झारखंड के गुरुजनों का अपमान असहनीय है। इसकी हम कड़ी शब्दो में भत्सर्ना की है। मौके पर प्रदेश कोर कमिटि के प्रदेश प्रभारी देवचरन पांडेय,प्रदेश महासचिव आचार्य बीरेंद्र शास्त्री,उपाध्यक्ष राजकुमार शास्री व राजेश तिवारी प्रदेश प्रवक्ता आचार्य पुरेन्द्र पांडेय व आचार्य कृष्णदेव पांडेय,कोषाध्यक्ष चंद्रकांत पांडेय,संगठन मंत्री बटेश्वर मिश्रा व धरेश शर्मा,प्रदेश सचिव सूरज पाठक, प्रदेश सह प्रभारी बसंत पांडेय,प्रदेश मिडिया प्रभारी मनोज कुमार पांडेय,युवा प्रकोष्ठ प्रदेश प्रभारी प्रोफेसर ओमकार नाथ शर्मा,युवा प्रकोष्ठ संगठन मंत्री ओमप्रकाश पांडेय,युवा प्रकोष्ठ उपाध्यक्ष, विनय सांडिल्य, यूवा प्रकोष्ठ प्रदेश सचिव सुमन पांडेय व कमलेश पांडेय,युवा प्रकोष्ठ प्रदेश कानूनी सलाहकार सोनु मिश्रा ने बताया कि झारखंड के स्थापना दिवस के अवसर पर झारखंड के भविष्य बनाने वाले कारीगरो अर्थात पारा शिक्षकों पर क्रूरता पूर्वक लाठी चलवाने, सैकड़ों शिक्षकों को भोजन और पानी के बिना दो दिनों तक अवैध तरीकों से रख कर अन्ततोगत्वा झुठी मुकदमा कर जेल में डालने वाले सरकार के इस कदम से मैं आहत हूँ ।

हमारे समाज के कई युवा जो पारा शिक्षक हैं और अपने अधिकार के लिए आवाज उठा रहे है, परंतु निरंकुश शासक सिर्फ अपने ही पीठ ठोकने मे लगी हुई है। भारतीय संविधान में उपबंधित मूल भूत अधिकारो को तार तार करने वाले शासन के ऐसे कदमों का मैं घोर भर्त्सना करता हूँ। अंतर्राष्ट्रीय ब्राह्मण महासंघ ने सरकार द्वारा पारा शिक्षकों पर हो रहे दंडात्मक कार्यवाही की घोर निंदा किया है प्रदेश अध्यक्ष सुनील कुमार पांडेय ने कहा है कि पारा शिक्षकों का संघर्ष उनके लक्ष्य तक जरूर पहुचायेगा चाहे सरकार जितना भी सितम ढा ले वहीं युवा प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष श्री संदीप शर्मा ने कहा कि शिक्षक समाज के रीढ़ माने जाते हैं और उनके साथ सरकार का ये रवैया समाज के साथ साथ राज्य व देश के लिए चिंता का विषय इस कार्य हेतु अंतर्राष्ट्रीय ब्राह्मण महासंघ पारा शिक्षक के साथ है।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

2 thoughts on “पारा शिक्षकों पर लाठीचार्ज असहनीय : राहुल

  1. When I originally commented I clicked the “Notify me when new comments are added” checkbox and now each time a
    comment is added I get four emails with the same comment.

    Is there any way you can remove people from that
    service? Thanks!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *