भूमि विवाद में मारपीट, एक दर्जन लोग घायल

पलामू

हरिहरगंज : हरिहरगंज थाना क्षेत्र के कुलहिया पंचायत अंतर्गत परसावाली टांड़ पर दो पक्षों के बीच भूमि विवाद को लेकर जमकर मारपीट हो गई। इसमें एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। एक पक्ष के कोठिला निवासी सूर्यदेव भुइयां 55 वर्ष, रुक्मनिया देवी 50 वर्ष, रजमनिया देवी 25, प्रमोद भुइयां 30, प्रतिमा देवी 40, लालमोहन भुइयां 43, शिवपूजन भुइयां 45, तारा देवी 30, अनुज भुइयां 25, अजय भुइयां 19, मिथिलेश भुइयां 16 तथा दूसरे पक्ष के लादी निवासी सुनेश्वर ठाकुर व उसकी बहु रेणु देवी घायल हो गए। घटना 24 अक्टूबर की है। इनमें एक पक्ष के सूर्यदेव भुइयां का हाथ, पैर फ्रैक्चर व रुक्मनिया देवी का दायां पैर टूट गया है। लालमोहन भुइयां तथा शिवपूजन भुइयां के सिर में गंभीर चोट और प्रतिमा देवी का बायां हाथ टूट गया है। सभी की गंभीर स्थिति को देखते हुए मेदनीनगर सदर अस्पताल में इलाज कराया गया। साथ ही एससी एसटी थाना में केस दर्ज कराया है। इसमें सुनेश्वर ठाकुर, रंजन ठाकुर, पंकज ठाकुर, राजू ठाकुर सहित दस लोगों को आरोपी बनाया है। सूर्यदेव भुइयां ने बताया कि लादी गांव के समीप परसावाली टांड़ पर 3 एकड़ 81 डिसमिल जमीन हमलोगों की है। इसपर पिछले तीन पीढि़यों से खेती करते आ रहे हैं। उस जमीन का परचा, खतियान नए सर्वे का कागजात हम तीन पट्टीदारों के नाम पर है। 24 अक्टूबर को सुनेश्वर ठाकुर अपने आदमियों के साथ ट्रैक्टर से हमारे खेत को जोत रहा था। इसे देख हमलोग मना करने गए तो हम सभी पर लाठी डंडों से हमला कर घायल कर दिया और जान मारने की धमकी दी। उधर सुनेश्वर ठाकुर ने हरिहरगंज थाना में बृजमोहन भुइयां, लालमोहन भुइयां, सूर्यदेव भुइयां, प्रमोद भुइयां, संजय कुमार, मनोज भुइयां, रुक्मनिया देवी, ननकेश्वर भुइयां सहित 10 लोगों के खिलाफ अपनी बहू रेणु देवी के साथ छेड़छाड़ करने, मंगल सूत्र छिनने के साथ ही बचाव करने पर मारपीट कर घायल करने का आरोप लगाया है। शुक्रवार को पुलिस ने घटनास्थल जाकर मामले में छानबीन की है। थाना प्रभारी बंशनारायण ¨सह ने बताया कि दोनों पक्षों ने अलग अलग जगहों पर मामला दर्ज कराया है। मामले का अनुसंधान किया जा रहा है।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *