लेस्लीगंज : न्यायिक हिरासत में गए रिद्धि सिद्धि संस्था के संस्थापक कमलेश

पलामू ब्रेकिंग न्यूज़

लेस्लीगंज : लेस्लीगंज  थाना क्षेत्र के कुंदरी निवासी  रिद्धि सिद्धि प्राथमिक लाह उत्पादक सहयोग समिति के संस्थापक सह सचिव कमलेश  कुमार सिंह को लेस्लीगंज थाना पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। कमलेश कुमार सिंह पर  वन विभाग के कामों में व्यवधान डालने  व वन कर्मियों को बंधक बनाने जैसे मामले दर्ज कराए गए हैं। कुंदरी वन प्रक्षेत्र के रेंजर जितेंद्र हाजरा की अनुशंसा पर वनरक्षी मोहफीज अंसारी ने लेस्लीगंज थाना के कांड संख्या 128/2018 के तहत मामला दर्ज कराया था। इसमें 7 नामजद अभियुक्त के साथ 45 से 50 अन्य पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। नामजद अभियुक्तों में कमलेश कुमार सिंह , संयुक्त वन प्रबंधन समिति लाह बागान कुंदरी के अध्यक्ष  विनोद कुमार, ब्रजेश कुमार मेहता, रिद्धि सिद्धि संस्था के कार्यकारिणी सदस्य पवन कुमार मेहता, ईश्वरी राम, रविद्र राम व आजसू नेता रुद्र शुक्ला का नाम शामिल है। इस बाबत थाना प्रभारी बिरेन मिज ने बताया कि कमलेश सिंह पर वन विभाग ने मामला दर्ज कराया था। इसी आलोक में कमलेश को गिरफ्तार किया गया है। इधर वन प्रबंधन समिति कुन्दरी के अध्यक्ष विनोद कुमार का कहना है कि वन विभाग ने कुन्दरी लाह बागान के मजदूरों का पिछले 2 वर्ष से मजदूरी बकाया रखा है। मजदूरों की मजदूरी दिलाने व लाह बगान कुन्दरी में लाखों की लागत से हो रहे घटिया निर्माण कार्य के विरोध में 23 अक्टूबर 2018 को पांकी- मेदिनीनगर मुख्य पथ को जाम किया गया था। ग्रामी के इस विरोध से बौखलाकर वन विभाग ने विरोध को दबाने के लिए एक साजिश के तहत मामला दर्ज कराया है। न्यायिक हिरासत में गए कमलेश कुमार सिंह का कहना है कि कुंदरी में वन विभाग अवैध रूप से पेड़ों की कटाई की जा रही है। करोड़ों रुपये का वनोत्पाद लाह का गबन उजागर करने के कारण विभाग साजिश के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तार कराया है। इस मामला को उन्होंने पीएमओ, मुख्यमंत्री, डीआइजी व एसपी को पत्र लिख कर अवगत कराया था। कार्रवाई नहीं होती देख सोशल मीडिया पर भी पोस्ट डाला था। कहा कि म•ादूरों के हक दिलाने के लिए वे आज से अन्न व जल का त्याग करेंगे। न्याय मिलने व दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होने पर आंदोलन खत्म होगा।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *