झारखंड में बनी फिल्म स्प्रिंग थंडर को अमेरिका में मिला अवॉर्ड, माइंस पॉलिटिक्स की है कहानी

पलामू

झारखंड में बनी फिल्म ‘स्प्रिंग थंडर’ के लिए श्रीराम डाल्टन को अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को में बेस्ट डायरेक्टर का अवॉर्ड मिला है. श्रीराम डाल्टन को इससे पहले लॉस्ट ऑफ बहरूपिया के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिल चुका है.

अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को में बे एरिया फिल्म फेस्टिवल में स्प्रिंग थंडर को दिखाया गया. स्प्रिंग थंडर के स्क्रीनिंग से ही फेस्टविल की शुरुआत हुई. स्प्रिंग थंडर का निर्देशन का निर्माण पलामू के रहने वाले राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार विजेता श्रीराम डाल्टन ने किया है. फिल्म में अधिकांश कलाकार पलामू के स्थानीय कलाकार है, जबकि बॉलीवुड के कई मशहूर हस्तियों ने भी काम किया है. 

स्प्रिंग थंडर का बे एरिया फिल्म फेस्टिवल के बाद विदेशों के कई फिल्म फेस्टिवल में भेजे जाने की तैयारी है.  श्रीराम डाल्टन की पत्नी मेघा श्रीराम ने बताया कि झारखंड में काफी प्रतिभा है और यहां के लोग काफी सहयोगी है. मेघा श्रीराम भी पलामू के मेदिनीनगर की रहने वाली है और बॉलीवुड सिंगर है.

माइंस पॉलिटिक्स पर आधारित है फिल्म की कहानी
स्प्रिंग थंडर की कहानी माइंस पॉलिटिक्स पर आधारित है. फिल्म की कहानी युरेनियम माइंस के टेंडर से शुरू होती है. फिल्म निर्माता श्रीराम डाल्टन बताते है कि स्प्रिंग थंडर आम आदमी की भूमिका को बताएगा. दर्शक फिल्म देख कर जब थिएटर से बाहर निकलेंगे तो वो सोचेंगे की इस व्यवस्था में वह कहा है और उन्होंने समाज के लिए क्या किया और क्या दे रहे हैं?

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *