गढ़वा : अब छोटे शहरों में भी लड़कियां उड़ाएंगी चौक-छक्के, 46 टीम ले रही है हिस्सा

गढ़वा

गढ़वा : जिले का सबसे बड़ा क्रिकेट प्रतियोगिता का आज आगाज हो गया. सीनियर, जूनियर के साथ इस साल लड़कियों का भी ग्रुप टूर्नामेंट में शामिल है. इस प्रतियोगिता ने झारखंड को राज्यस्तर के सात खिलाड़ी दे चुका है.

बता दें कि जिले में पिछले 19 सालों से जिला अंतर स्कूल क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है. बालकों की प्रतियोगिता सीनियर और जूनियर ग्रुप में होती है. इस वर्ष से बालिका वर्ग की भी प्रतियोगिता करायी जा रही है. इस टूर्नामेंट के चयनित खिलाड़ी जेसीए द्वारा आयोजित अंडर 14 और अंडर 16 क्रिकेट प्रतियोगिता में शामिल होते हैं. जबकि 19 सालों में 16557 बच्चे टूर्नामेंट में खेल चुके हैं. जिले में उभरती महिला खिलाड़ियों की प्रतिभा को आगे बढ़ाने प्रयास किया जा रहा है. 

जिला पब्लिक स्कूल समन्वय समिति के तत्वावधान में आयोजित इस प्रतियोगिता में इस साल कुल 46 टीमें शामिल की गई है. जिसमें 690 खिलाड़ी अपनी प्रतिभा का जौहर दिखाएंगे. एक महीने तक चलने वाले इस क्रिकेट महाकुंभ का उद्घाटन डीडीसी आइएएस नमन प्रियेश लकड़ा, एसडीपीओ ओमप्रकाश तिवारी ने कार्यक्रम का उद्घाटन किया. डीडीसी ने खिलाड़ियों को शपथ दिलाई.

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

2 thoughts on “गढ़वा : अब छोटे शहरों में भी लड़कियां उड़ाएंगी चौक-छक्के, 46 टीम ले रही है हिस्सा

  1. My husband and i have been so delighted when Raymond could round up his web research by way of the precious recommendations he gained out of your blog. It is now and again perplexing just to be giving away solutions other folks have been trying to sell. And we also see we need you to be grateful to for this. The most important illustrations you have made, the straightforward blog menu, the relationships your site make it easier to instill – it’s all fabulous, and it is helping our son and our family know that this article is thrilling, which is incredibly essential. Thank you for the whole lot!

  2. I must express some thanks to you just for rescuing me from this crisis. Because of researching through the the net and meeting recommendations which are not productive, I was thinking my life was gone. Existing minus the approaches to the difficulties you’ve solved through the guide is a critical case, and those that might have in a wrong way damaged my entire career if I had not come across your blog. Your skills and kindness in handling everything was useful. I’m not sure what I would have done if I had not come across such a point like this. I am able to at this point look ahead to my future. Thanks a lot very much for the professional and effective guide. I will not hesitate to recommend your site to anyone who needs care on this problem.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *