दो हिस्सों में बटी वाराणसी-गोमो पैसेंजर ट्रेन, 1 किलोमीटर तक ऐसे ही दौड़ती रही

गढ़वा

झारखंड के पलामू में एक बड़ा रेल हदासा टल गया है. डालटनगंज और गढ़वा रोड के बीच गुरहा के पास बीडीएम पैसैंजर ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त होने से बाल-बाल बची है. ट्रेन दो हिस्सों में बंटकर कई मीटर तक दौड़ती रही.

जी आज ऐसा ही हुआ पलामू के गढ़वा रोड जंक्शन से आगे बढ़ने के बाद. जब बरकाकाना से डिहरी को जाने वाली लाइफलाइन रेल बीडीएम सवारी गाड़ी बाल बाल बच गई. जब इंजन दौड़ता चला गया और बोगी पीछे ही छूट गई. तकरीबन एक दर्जन बोगीयों वाली ट्रेन में दो से तीन हजार सवारी के होने का अनुमान लगाया जा रहा है. वो तो पलामू के हिस्से में खुशकिस्मती थी कि कोई भी बोगी बेपटरी नहीं हुई वरना हादसा के बारे में सोच रूह कांप जा रहा है। 

चालक एम एल प्रसाद की माने तो वैगन कोच पहले से ही जर्जर था, जिसकी मरम्मति के लिए ही ले जाया जा रहा था. मगर भरे सवारी गाड़ी में जर्जर वैगन कोच से अलग हो गया. जिसके बाद ये घटना घटी.

हालांकि कुछ घंटों में इसे दुरूस्त कर रेल के परिचालन का दावा तो रेल प्रशासन कर रही है.

मगर सवाल है कि आखिरकार जर्जर हालत में बोगी को जोड़ने की क्या जरूरत थी?

इसे पहले दुरूस्त क्यों नहीं किया गया?

क्यों हजारों जिंदगीयों को खतरे में डाला गया?

इसे लापरवाही नहीं बल्कि गुनाह मान जिम्मेदार लोगों पर कड़ी कारवाई क्यों ना की जाए.

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *