राजकीय सम्मान के साथ पंचतत्व में विलीन हुए बीएसएफ जवान संदीप

पलामू

कोयल नदी घाट पर पिता ने दी मुखाग्नि

मेदिनीनगर : पलामू निवासी बीएसएफ जवान संदीप दुबे का तिरंगे में लिपटा शव मंगलवार की देर शाम मेदिनीनगर के पांकी रोड स्थित श्रीराम पथ उनके आवास पर पहुँचा। जहां पहले से ही अपने इकलौते बेटे को अंतिम बार देखने की आस में बैठे उनके पिता चिन्तामणि दुबे समेत पूरे परिवार और दोस्तों का संदीप की लाश देखकर कलेजा फट गया । पैतृक गांव लेस्लीगंज के दुगिला से लेकर शहर तक मे संदीप के मौत का मातम पसर गया । किसी को यह विश्वास नहीं हो रहा था कि अभी 15 दिन पहले ही घर से छुटियां बिताकर नौकरी पर गया संदीप वापस लौटकर नहीं आएगा। बुधवार को कोयल नदी घाट पर जवान संदीप का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया गया । बीएसएफ बटालियन की ओर से एसआई कमल किशोर के नेतृत्व में पांच राउंड हवाई फायरिंग कर जवान को सलामी दी गयी । उनके पिता चिंतामणि दुबे ने अपने बेटे को मुखाग्नि दी । मौके पर टीओपी 2 प्रभारी अनंत प्र सिंह सदल बल उपस्थित थे।

पैर में दर्द का बहाना हुआ और नहीं बच सका संदीप
36 वर्षीय बीएसएफ जवान संदीप दुबे 2004 बैच का इंस्पेक्टर रैंक का अधिकारी थे । वह राजस्थान में पोस्टेड थे। उनकी काबलियत के बदौलत अभी सीबीआई के अंतर्गत रांची जोन में उनका डेपुटेशन हुआ था। छूटी के बाद वे दिल्ली मुख्यालय में जॉइन भी करने वाले थे । लेकिन नियति को कुछ और मंजूर था । छूटी से जाने के बाद अचानक उनके पैर में दर्द का बहाना हुआ, जिसके बाद दिल्ली के इंडियन स्पाइनल इंज्यूरी सेंटर में इलाज कराया, ऑपरेशन भी हुआ, लेकिन बचाया नहीं जा सका । 14 जनवरी को उनकी मौत अस्पताल में हो गयी । दिल्ली से हवाई मार्ग से शव रांची लाया गया फिर उनके घर । वे अपने पीछे पत्नी अलका दुबे, बेटा आर्व दुबे- 5 साल और एक बेटी शाम्भवी 8 साल का भरा-पूरा परिवार छोड़ गये । उनके पिता चिंतामणि दुबे शिक्षक से रिटायर्ड किये थे । संदीप घर का इकलौता पुत्र था । दोस्तों और परिजनों ने बताया कि संदीप बेहद ही सरल स्वभाव का हंसमुख और मिलनसार व्यक्ति था । वह सभी का चहेता भी था । उसका जाना परिवार और समाज के लिये बहुत बड़ी क्षति है ।

(कैपिटल न्यूज़ पलामू को लाइव देखने और एप डाउनलोड करने के लिये यहां क्लिक करें)

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र होकर निर्भीक और निष्पक्ष पत्रकारिता...

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *